आप पर है CIA की नज़र

नई दिल्ली | समाचार डेस्क: यदि आप स्मार्टफोन तथा स्मार्ट टीवी देखते हैं तो सावधान हो जाइये. बकौल विकीलीक्स इनके माध्यम से आपकी सभी निजी जानकारियां अमरीकी खुफिया एजेंसी सीआईए के सर्वर तक पहुंच जा रही है. यहां तक कि जब आप अपना टीवी ऑफ कर देते हैं तब भी आपके घर की ऑडियो-वीडियो रिकॉर्डिग होती रहती है. दरअसल विकीलीक्स से मिली जानकारी के अनुसार अमरीका की खुफिया एजेंसी सीआईए विश्वभर में लोगों की जासूसी कर रहा है.

जासूसी के लिए वह लोगों के स्मार्ट टीवी, स्मार्टफोन, एंटी वायरस सॉफ्टवेयर के माध्यम से लोगों की जासूसी करने में लगा है. मिली जानकारी के अनुसार ये सभी डॉक्युमेंट सीआईए के सेंटर फॉर साइबर इंटेलिजेंस से लिये गये हैं.


यह भी पढ़ें- Vault 7: CIA Hacking Tools Revealed

दरअसल सीआईए लोगों द्वारा प्रयोग में लाये जाने वाले गैजेट्स में सेव की गई फोटो, निजी जानकारियों, ऑडियो फाईल समेत अन्य सामग्रियों पर नज़र रखी जा रही है. हालांकि सीआईए ने विकीलीक्स के डॉक्युमेंट पर टिप्पणी करने से मना कर दिया है. बता दें कि विकीलीक्स दुनिया की वह कंपनी है जो कि खुफिया जानकारियां प्रसारित करने के लिए जानी जाती है.

विकीलाक्स का दावा है कि सीआईए अमरीकन सॉफ्टवेयर प्रोडक्ट्स और स्मार्टफोन्स को जासूसी के लिए उपयोग में लाने का कार्य करता है. इतना ही नहीं एप्पल के आईफोन, गूगल का एंड्रॉयड और माइक्रोसॉफ्ट विंडोज़ भी इसमें शामिल किये गये हैं. इस मामले में जानकारी मिली है कि विकीलीक्स द्वारा डॉक्यूमेंट के आधार पर जासूसी के लिए सॉफ्टवेयर तैयार किये हैं.

सीआईए ऐसी एप पर काम कर रहा है जो कि स्मार्ट टीवी को यूज़ कर रहा है. इसमें एक बग काम करता है जो कि टीवी में नकली ऑफ मोड डाल देता है. ऐसे में जब टीवी देखने वाला दर्शक यह समझता है कि वह टीवी ऑफ कर चुका है मगर यह टीवी ऑन रहता है और उसके रूम के वीडियो व ऑडियो रिकॉर्ड हो जाते हैं और सीआईए के सर्वर पर चले जाते हैं. सीआईए ब्रूटल कंगारू जैसे मालवेयर पर काम करता है जो कि कंप्युटर को प्रभावित करता है. सीआईए डाटा चुराने के लिए फाइन डाइनिंग का उपयोग करता है. हैमर ड्रिल के माध्यम से भी हैकिंग कर सीआईए अपना कार्य करता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!