जिंदा महिला के पीएम की थी तैयारी!

सुकमा | समाचार डेस्क: छत्तीसगढ़ के सुकमा में एक जिंदा महिला की पोस्टमार्टम की तैयारी थी. पुलिस ने कथित लाश का पंचनामा भी बना दिया था. कथित लाश को अस्पताल से पोस्टमार्टम के लिये भी भेज दिया गया था. पोस्टमार्टम रूप में परिजनों को पता चला कि महिला जिंदा है.

उसके बाद उसका फिर से इलाज शुरु किया. करीब तीन घंटे के इलाज के दौरान महिला की मौत हो गई. घटना गुरुवार सुबह बस्तर के सुकमा की है.


मिली जानकारी के अनुसार गुरुवार की सुबह सुकमा के शबरीनगर में निर्माणाधीन मकान की दीवार ढहने से 50 वर्षीया पार्वती शर्मा घायल हो गई थी. उसे अस्पताल लाया गया तथा वहां उसे सुबह के सात बजे भर्ती किया गया. ड्यूटी वाले चिकित्सक ने घायल महिला को मृत घोषित कर दिया.

रिश्तेदारों को खबर कर दी गई. मामला पुलिस के पंचनामा से होते हुये पोस्टमार्टम रूम तक पहुंच गया. वहां पर जाकर दोपहर के 12 बजे घायल महिला की नब्ज चलती दिखी. परिजनों द्वारा हंगामा करने पर महिला को तुरंत अस्पताल में लाकर ऑक्सीजन तथा दवायें दी गई. तीन घंटे बाद घायल महिला की मौत हो गई.

इस घटना के बाद नगर के लोग अस्पताल पहुंचकर अपना आक्रोश व्यक्त करने लगे. अस्पताल के बाहर लोगों ने जमकर हंगामा भी किया. प्रशासन ने किसी अप्रिय स्थिति के मुकाबले के लिये भारी संख्या में पुलिस बल तैनात कर दिया. पुलिस अधीक्षक ने मौके पर पहुंचकर लोगों को समझाया.

अब मृतक महिला के परिजन चिकित्सक पर लापरवाही का आरोप लगा रहे हैं. उनका कहना है कि घायल महिला सुबह के सात बजे से दोपहर के 12 बजे तक जिंदा थी. यदि पोस्टमार्टम के चक्कर में समय बर्बाद न करके इलाज किया जाता तो शायद बच सकती थी.

मामले की जानकारी मिलने पर कोंटा के विधायक कवासी लखमा वहां पहुंचे. उन्होंने प्रकरण में आपराधिक मामला दर्ज करने की मांग करते हुये कहा कि यदि कार्यवाही नहीं की गई तो आंदोलन किया जायेगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!