BJP: चुनाव जीतने धान पर बोनस चाहिये

रायपुर | संवाददाता: छत्तीसगढ़ भाजपा को अगला विधानसभा चुना जीतने धान पर बोनस चाहिये. सूत्रों की माने तो छत्तीसगढ़ के दौरे पर आये भाजपा के राष्ट्रीय सह संगठन महामंत्री बीएल संतोष के सामने यह बात रखी गई है. उल्लेखनीय है कि इन दिनों वे छत्तीसगढ़ के दौरे पर हैं तथा नेताओं, मंत्रियों एवं कार्यकर्ताओँ से मिल रहें हैं.

मिली जानकारी के अनुसार सभी इस बात पर जोर दे रहें हैं कि भाजपा को अपना चुनावी वादा पूरा करना चाहिये. इसके लिये धान पर बोनस देना पड़ेगा. सूत्रों का कहना है कि मंत्रियों की ओर से कहा गया है कि धान पर बोनस का इंतजाम अपने संसाधनों से कर लिया जायेगा. उन्हें केन्द्र सरकार की मंजूरी चाहिये.

धान पर बोनस एक संवेदशील मुद्दा है तथा अगले चुनाव में इसे राजनीतिक मुद्दा बनाया जा सकता है. नेताओं का मानना है कि यदि धान पर बोनस का दे दिया जाये तो उन्हें चुनाव जीतने में कोई परेशानी नहीं होगी.

उल्लेखनीय है कि साल 2013 में चुनाव जीत कर जब भाजपा फिर से सत्ता में आई तो राज्य के मुख्यमंत्री रमन सिंह ने सबसे पहले तत्कालीन मनमोहन सिंह सरकार को पत्र लिख कर धान का समर्थन मूल्य बढ़ाने का अनुरोध किया. इस मामले पर केंद्र सरकार ने हाथ खड़े कर लिये थे.

इसके बाद राज्य की भाजपा सरकार ने केंद्र की कांग्रेसी सरकार के पाले में गेंद डाल कर चुप्पी साध ली. लेकिन केंद्र में भाजपा की सरकार आने के बाद भी राज्य सरकार इस मामले पर चुप्पी साधे हुये है.

फिलहाल छत्तीसगढ़ में प्रति क्विंटल 300 रुपये बोनस दिया जा रहा है, यानी मोटे धान के लिए 1410 और पतले धान के लिए 1450 रुपये समर्थन मूल्य.

पिछले विधानसभा चुनाव के समय राज्य की भाजपा सरकार ने किसानों को 2,400 रुपये धान का समर्थन मूल्य देने का वादा किया था.

error: Content is protected !!