छत्तीसगढ़ ने SDRF बनाया

बिलासपुर | संवाददाता: छत्तीसगढ़ ने केन्द्र की NDRF की तर्ज पर राज्य में SDRF बनाया है. यह एक आपदा मोचन बल है जो दुर्घटना तथा प्राकृतिक आपदा के समय नागरिकों की रक्षा करेगा. मंगलवार को इसके प्रसिक्षण केन्द्र का शुभारंभ मुख्यमंत्री रमन सिंह ने बिलासपुर के भरनी में किया. मुख्यमंत्री रमन सिंह ने इस केन्द्र के लिये लगभग दो करोड़ 10 लाख रूपये की लागत से निर्मित छात्रावास, प्रशासनिक भवन और सैनिक बैरक का भी लोकार्पण किया.

उन्होंने कहा कि अतिवृष्टि, बाढ़ और अग्नि दुर्घटना जैसी प्राकृतिक और आकस्मिक विपदाओं के समय यह आपदा मोचन बल काफी उपयोगी साबित होगा. डॉ. सिंह ने कहा कि इस प्रशिक्षण केन्द्र को लगभग 17 करोड़ रूपये की लागत से विकसित किया जायेगा.


उल्लेखनीय है कि केन्द्र सरकार के राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) की तर्ज हाल ही में छत्तीसगढ़ सरकार ने राज्य आपदा मोचन बल (एसडीआरएफ) का गठन किया है. इसमें होमगार्ड तथा नागरिक सुरक्षा संगठन के जवानों को अग्नि दुर्घटना सहित विभिन्न प्राकृतिक आपदाओं से निपटने तथा इन आपदाओं के दौरान राहत और बचाव उपायों का प्रशिक्षण दिया जायेगा.

अग्निशमन सेवा और राज्य आपदा मोचन बल के महानिदेशक गिरधारी नायक ने स्वागत भाषण में बताया कि इस प्रशिक्षण केन्द्र में जवानों को 22 प्रकार की विभिन्न दुर्घटनाओं से लोगों के जान-माल की रक्षा के लिए प्रशिक्षण दिया जायेगा.

उन्होंने यह भी कहा कि संभाग स्तर पर पांच अलग-अलग समूहों में उन्हें 15-15 दिन के रोटेशन में प्रशिक्षण दिया जायेगा. उन्होंने आगे कहा कि आपात सेवा और जनधन की सुरक्षा ही एसडीआरएफ का लक्ष्य है. एसडीआरएफ के 140 जवानों को एनडीआरएफ के द्वारा प्रशिक्षण दिया गया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!