अफ़ग़ानिस्तान में आतंकवादी गतिविधियां न हों

नई दिल्ली | डेस्क: अफ़ग़ानिस्तान पर भारत ने अपना रुख साफ करते हुए कहा है कि आतंकवाद को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा.

बीबीसी के अनुसार अफ़ग़ानिस्तान पर नई दिल्ली में आयोजित तीसरे एनएसए स्तर की बैठक में कहा गया है कि अफ़ग़ानिस्तान का उपयोग किसी भी आतंकवादी कार्य के लिए नहीं किया जाना चाहिए.


इस दौरान अफ़ग़ानिस्तान में सुरक्षा, स्थिरता और शांति बनाए रखने पर एकमत होते हुए वहां की संप्रभुता और क्षेत्रीय अखंडता को कायम रखने पर सहमति जताई गई.

बैठक में कुंदुज़, कंधार और काबुल में हाल में हुए आतंकवादी हमले की निंदा करते हुए नए हालात से जूझते अफ़ग़ान लोगों को लेकर चिंता जताई गई.

साथ ही इस क्षेत्र में कट्टरपंथ, अलगाववाद, उग्रवाद और मादक पदार्थों की तस्करी के ख़िलाफ़ एकजुट सहयोग का आह्वान भी किया गया.

इस मौक़े पर भारत के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल ने कहा कि हमें इस बात का पूरा भरोसा है कि ये विचार-विमर्श अफ़ग़ानिस्तान के लोगों की मदद करने और हमारी सामूहिक सुरक्षा को सुनिश्चित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएंगे.

उन्होंने कहा कि, “यह एक ऐसा समय है जब हमें अफ़ग़ानिस्तान के मुद्दे पर अधिक सहयोग और समन्वय के साथ आगे बढ़ने की ज़रूरत है. अफ़ग़ानिस्तान का विकास न केवल वहां के लोगों के लिए बल्कि उसके पड़ोसी मुल्क़ों और लोगों के लिए भी महत्वपूर्ण है.”

आठ देशों की राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार स्तर की यह बैठक भारत के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल की अगुवाई में हो रही है.

बैठक में भारत के अतिरिक्त रूस और ईरान समेत आठ देश अफ़ग़ानिस्तान की सत्ता में तालिबान की वापसी के बाद क्षेत्रीय सुरक्षा को लेकर उपजे हालात पर चर्चा की गई.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!