सेक्स सीडी किसकी, पुलिस को नहीं पता

रायपुर | संवाददाता: रायपुर के आईजी पुलिस प्रदीप गुप्ता के अनुसार गुरुवार की दोपहर पत्रकार विनोद वर्मा के खिलाफ पुलिस को शिकायत मिली और 13 घंटे के भीतर छत्तीसगढ़ पुलिस की टीम ने सारी जांच-पड़ताल करने के बाद विनोद वर्मा को गिरफ्तार किया गया.

रायपुर के आईजी पुलिस प्रदीप गुप्ता ने कहा है कि पत्रकार विनोद वर्मा ने एक आपत्तिजनक सीडी की 500 प्रतियां बनावाई थीं, इसकी पुष्टि होने के बाद उन्हें गिरफ्तार किया गया. हालांकि उन्होंने कहा कि सीडी बनाने वाले को गिरफ्तार नहीं किया गया है. उन्होंने सीडी देखे जाने से भी इंकार किया.

गौरतलब है कि छत्तीसगढ़ पुलिस ने वरिष्ठ पत्रकार विनोद वर्मा को शुक्रवार की तड़के उनके गाजियाबाद के इंदिरापुरम स्थित घर से गिरफ़्तार किया है.

उन्होंने कहा कि “जिस आदमी ने सीडी बनाई है, उसको जब जा कर पुलिस ने तलब किया तो उसने सीडी बनवाने वाले व्यक्ति के साथ बातचीत के संदेश दिखाये.”

प्रदीप गुप्ता ने कहा कि वह नंबर विनोद वर्मा का था, जिसके बाद दिल्ली और उत्तप्रदेश की पुलिस के साथ छत्तीसगढ़ की पुलिस ने विनोद वर्मा को उनके निवास से हिरासत में लिया.

प्रदीप गुप्ता ने रायपुर में एक पत्रकार वार्ता में बताया कि गुरुवार की दोपहर 2 बजे के आसपास रायपुर के प्रकाश बजाज नामक व्यक्ति ने पुलिस में रिपोर्ट दर्ज करवाई कि उनके लैंड लाइन नंबर पर फोन आया है कि उसके ‘आका’ की अश्लील सीडी फोन करने वाले के पास है और अगर उसकी मांग पूरी नहीं की गई तो उसके ‘आका’ को बदनाम कर दिया जायेगा.

हालांकि पत्रकारों द्वारा बार-बार पूछे जाने पर भी आईजी ‘आका’ या जिस फोन से कॉल आया था, उस संबंध में कोई भी जानकारी नहीं दे पाये. उनका कहना था कि फोन लैंड लाइन पर किया गया था. किस नेता या मंत्री की अश्लील सीडी है, इस बारे में भी आईजी प्रदीप गुप्ता ने अनभिज्ञता जताई.

error: Content is protected !!