छत्तीसगढ़ के शिक्षाकर्मी नियमित होंगे

रायपुर | संवाददाता: छत्तीसगढ़ में 45 हज़ार शिक्षाकर्मी नियमित किये जायेंगे.माना जा रहा है कि 4 दिन बाद होने वाली मंत्रीमंडल की बैठक में इस प्रस्ताव को मंजूरी दे दी जायेगी. राज्य में 1.80 लाख के आसपास शिक्षाकर्मी कार्यरत हैं.

खबरों पर यकीन करें तो 8 साल से काम रहे शिक्षाकर्मियों को इस मामले में प्राथमिकता दी जायेगी. जो शिक्षाकर्मी जहां पदस्थ है, वहीं उसे नियमित किया जायेगा.

पिछले कई सालों से छत्तीसगढ़ में शिक्षाकर्मी नियमित किये जाने की मांग को लेकर आंदोलन करते रहे हैं. लेकिन सरकार इस काम को टालती रही है.

इसके अलावा राज्य में शिक्षाकर्मियों की भारी कमी है. माना जा रहा है कि इन शिक्षाकर्मियों की नियमितिकरण के बाद नये पदों पर शिक्षाकर्मियों की भर्ती की भी सरकार घोषणा कर सकती है. सरकारी आंकड़ों की मानें तो राज्य में 50 हज़ार से अधिक शिक्षकों के पद रिक्त हैं.

इससे पहले लोक शिक्षण संचालनालय ने सभी ज़िलों के शिक्षा अधिकारियों को पत्र लिख कर कहा था कि वे विद्यालयों में प्रमोशन से भरे जाने वाले पदों की जानकारी राज्य शासन को उपलब्ध करायें. इसके अलावा जहां खाली पद हैं या जहां युक्तियुक्तकरण जैसी स्थिति है, उसकी जानकारी भी उपलब्ध करायें. यह आदेश उस समय निकाला गया था, जब राज्य भर की पंचायतें अपने स्तर पर स्थानीय शिक्षकों की भर्ती करने की तैयारी कर रही थीं.

माना जा रहा है कि चुनाव के मद्देनज़र राज्य सरकार बिजली, पानी से लेकर रोजगार भर्ती के स्तर पर अगले साल भर के भीतर कई महत्वपूर्ण फैसले ले सकती है.

error: Content is protected !!