सबसे महंगा गैस सिलेंडर छत्तीसगढ़ में

रायपुर | संवाददाता: कांग्रेस नेता मनीष तिवारी ने कहा है कि सबसे महंगा गैस सिलेंडर छत्तीसगढ़ में मिलता है. उन्होंने कहा कि कांग्रेस सत्ता में आई तो 35 रुपये लीटर पेट्रोल देगी. उन्होंने कहा कि महंगाई से आम जनता त्रस्त है.

पूर्व केंद्रीय मंत्री मनीष तिवारी सोमवार को रायपुर में पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे. मनीष तिवारी ने कहा कि पूरे देश में दीवाली मनाई जा रही है और सरकार ने लोगों का दिवाला निकाल दिया है. उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ने 4 साल में टैक्स के 11 लाख करोड़ बटोरकर अपनी तिजोरी भर ली. देश में गैस सिलेंडर की सबसे ज्यादा कीमत 1037 रुपए पर छत्तीसगढ़ में है. वहां उर्जित पटेल आंसू बहा रहे हैं और यहां पर गृहणियां.


उन्होंने महंगाई को लेकर केंद्र व राज्य सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि यूपीए सरकार में कच्चे तेल की कीमत ज्यादा थी, पर पेट्रोल कम दर पर मिल रहा था. डॉलर के मुकाबले रुपये में गिरावट आई है. देशभर में महंगाई बढ़ती जा रही है. केंद्र में कांग्रेस की सरकार आने पर पेट्रोल-डीजल के साथ ही घरेलू गैस के दाम आधे कर दिए जाएंगे.

उन्होंने कहा कि बढ़ती महंगाई से लोग त्रस्त हैं और उनके घरों का बजट बिगड़ा हुआ है. किसानों के साथ आम जनता महंगाई को लेकर त्राहि-त्राहि कर रही है, पर देश में महंगाई कम नहीं हो रही है. उन्होंने राम मंदिर से जुड़े सवाल पर कहा कि भाजपा को राम मंदिर से कोई मतलब नहीं है, वो सिर्फ वोट चाहती है.

तिवारी ने दावा किया कि पिछले 53 महीने में कच्चे तेल की कीमत करीब 50 डॉलर कम हुआ है. यूपीए सरकार में कच्चे तेल की कीमत बढ़ी हुई थी, लेकिन पेट्रोल की कीमत कम थी.

श्री तिवारी ने डॉलर के मुकाबले रुपये में गिरावट को लेकर प्रधानमंत्री पर निशाना साधते हुए कहा कि पिछले 53 महीने में रुपये में ज्यादा गिरावट आई है. केंद्र में उनकी सरकार आई तो पेट्रोल 35 रुपए और डीजल उससे भी कम दर पर मिलेंगे. वहीं घरेलू गैस के दाम आधे कर दिए जाएंगे.

उन्होंने कहा कि सरकार की नजर आरबीआई के 3 लाख रुपये पर है. इसलिए सरकार आरबीआई के गवर्नर को हटाना चाहती है. धारा 7 को हटाना चाहती है. आजादी के बाद से किसी ने धारा 7 का इस्तेमाल नहीं किया. अगर ऐसा हुआ तो देश आर्थिक महामंदी से बर्बाद हो जाएगा. जब 1991 में देश को सोना बेचना पड़ा तब भी सरकार की नजर रिजर्व बैंक के पैसों पर नहीं थी.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!