IIT में निर्धन छात्रों की फीस माफ

पटना | समाचार डेस्क: आईआईटी में निर्धन, विकलांग छात्रों की फीस माफ कर दी गई है. दूसरी तरफ आईआईटी के सामान्य श्रेणी के छाओं के लिये फीस बड़ा दी गई है. आईआईटी के स्नातक स्तर के पाठ्यक्रमों की फीस सालाना 90 हजार रुपये से बढ़ाकर दो लाख रुपये कर दी गई है. आधिकारिक सूत्रों ने गुरुवार को बताया कि एक विशेषज्ञ समिति की अनुशंसा पर फीस वृद्धि का निर्णय लिया गया. समिति ने फीस में तीन गुनी वृद्धि की अनुशंसा की थी. भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान की प्रवेश परीक्षा की तैयारी कराने के लिए चर्चित संस्थान सुपर 30 के संस्थापक आनंद कुमार ने गुरुवार को आईआईटी के पाठ्यक्रमों में अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, शारीरिक रूप से विकलांग छात्रों तथा गरीबी रेखा के नीचे के छात्रों के लिए फीस माफ किए जाने के सरकार के निर्णय का स्वागत किया.

उन्होंने पटना में कहा, “आईआईटी का सपना देखने वाले समाज के वंचित वर्गो के हजारों छात्रों के लिए यह स्वागतयोग्य कदम है. यह फीस माफी देश की प्रगति में अहम योगदान देगा.”

उन्होंने कहा कि पिछड़े और निर्धन परिवार से आने वाले बच्चों में प्रतिभा की कोई कमी नहीं है, लेकिन पैसे के कारण उनका आईआईटी में जाने का सपना पूरा नहीं होता था. केंद्र सरकार के इस फैसले से ऐसे प्रतिभावान छात्रों के लिए आईआईटी में प्रवेश आसान होगा.

आनंद ने इस फैसले के लिए केंद्रीय मानव संसाधन मंत्री स्मृति ईरानी को धन्यवाद भी दिया.

उल्लेखनीय है कि आनंद पूर्व में मानव संसाधन मंत्री से मिलकर वंचित वर्गो से आने वाले गरीब छात्रों के लिए आईआईटी में फीस माफ करने की मांग कर चुके थे.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!