छत्तीसगढ़ के निलंबित एडीजी जीपी सिंह गिरफ़्तार

रायपुर | संवाददाता: राजद्रोह, भ्रष्टाचार और आय से अधिक मामले में छत्तीसगढ़ के निलंबित एडीजी पुलिस जीपी सिंह को गिरफ़्तार किया गया है. उनकी गिरफ़्तारी गुरुग्राम से हुई है.

1994 बैच के आईपीएस जीपी सिंह की जमानत याचिका पिछले सप्ताह सुप्रीम कोर्ट ने खारिज कर दी थी. जिसके बाद से ही उन पर गिरफ्तारी की तलवार लटक रही थी.


गुरजिंदर पाल सिंह जिस भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो और आर्थिक अपराध ब्यूरो के प्रमुख रहे हैं, उसी की एक टीम ने मंगलवार को उन्हें गिरफ़्तार किया.

पिछले साल जुलाई में गुरजिंदर पाल सिंह के कई ठिकानों पर छापामारी की गई थी. उन पर आय से अधिक संपत्ति और भ्रष्टाचार का मामला दर्ज़ किया गया था.

इसके बाद उनकी एक फटी हुई डायरी के आधार पर राजद्रोह का मामला भी दर्ज किया गया था.

राजद्रोह की धाराओं के तहत दर्ज प्राथमिकी में कहा गया कि गुरजिंदर पाल सिंह द्वारा नेताओं के ख़िलाफ़ आपत्तिजनक टिप्पणियां लिखी गई हैं.

इस डायरी में कथित रूप से साज़िश की योजनाओं के बारे में लिखा गया है.

आरोप है कि डायरी और दूसरे काग़ज़ों में राज्य के विभिन्न विधायकों और विधानसभा क्षेत्र के उम्मीदवारों के संबंध में गोपनीय विश्लेषण किये गये.

इसके अलावा इन डायरी में शासकीय योजनाओं, नीतियों और सामाजिक, धार्मिक मुद्दों पर गंभीर टिप्पणियां की गई हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!