कर्ज माफी : अब तक नहीं मिला प्रमाण पत्र

रायगढ़ | संवाददाता: छत्तीसगढ़ में किसानों की कर्ज माफी का काम अधूरा पड़ा हुआ है. बड़ी संख्या में किसानों को अब तक कर्ज माफी के प्रमाण पत्र नहीं मिले हैं. यहां तक कि किसानों के खाते में कर्ज माफी की रकम की एंट्री भी अब तक नहीं हो पाई है.

ऋण माफी का प्रमाण पत्र नहीं मिलने और रकम की एंट्री नहीं होने से किसानों को फिर से खेती-किसानी के लिये ऋण लेने में मुश्किल हो रही है.


बरसात का मौसम सिर पर है. पखवाड़े भर के भीतर किसानों को खाद-बीज के लिये ऋण लेना होगा, तब यह परेशानी और बढ़ जायेगी.

सरकार ने दावा किया था कि किसानों की ऋण माफी की सूची पंचायत भवनों में चस्पा कर दी जायेगी.

लेकिन पंचायत भवन की दीवारें अभी तक ऐसी किसी सूची का मुंह नहीं देख पाई हैं.

अफसरों का कहना है कि जल्दी ही ऐसा कर दिया जायेगा. हालांकि इस बात को पांच महीने से अधिक गुजर गये हैं.

राज्य सरकार का दावा है कि उसने 62,836 किसानों का ऋण माफ किया है. लेकिन सरकारी दावों की हकीकत खुद केसीसी लोन और बीज-खाद वितरण के आंकड़े बयान कर रहे हैं.

ज़िले में हर साल लगभग 40 हज़ार से अधिक किसान बीज-खाद केसीसी लोन लेते हैं. लेकिन 31 मई तक की तारीख में ज़िले के केवल 3582 किसानों को ही बीज-खाद और केसीसी लोन का वितरण हो पाया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!