छत्तीसगढ़ में बिजली कटौती का रिकार्ड टूटा

रायपुर | संवाददाता: छत्तीसगढ़ में बिजली की हालत 2021-22 में बुरी तरह लड़खड़ा गई है. जीरो पावर कट की बात अब पुरानी हो गई है.

भारत सरकार के राष्ट्रीय विद्युत पोर्टल के आंकड़ों के अनुसार 2018-19 में राज्य के ग्रामीण इलाकों में विद्युत कटौती नहीं हुई थी. शहरी इलाकों में औसत 85.17 घंटे की कटौती हुई थी.


इसी तरह 2019-20 में राज्य के ग्रामीण इलाकों में कोई कटौती नहीं हुई. शहरों में भी औसत 6.10 घंटे की कटौती भर हुई.

2020-21 में भी यही हालत रहे. शहरी इलाकों में औसत बिजली कटौती 6.08 घंटे भर का था.

ग्रामीण इलाकों में विद्युत कटौती नहीं हुई.

लेकिन 2021-22 में विद्युत कटौती के सारे रिकार्ड टूट गए. अक्टूबर 2021 तक के जो आंकड़े उपलब्ध हैं, उसी दौर में ग्रामीण इलाकों में औसत 539.40 घंटे विद्युत कटौती की गई.

इसी तरह 2021-22 में अक्टूबर 21 तक शहरी इलाकों में औसत 50.45 घंटे बिजली की कटौती की गई.

देश के 30 राज्यों में शहरी इलाकों में कटौती के मामले में छत्तीसगढ़ 14वें नंबर पर है. इसी तरह ग्रामीण इलाकों में कटौती के मामले में छत्तीसगढ़ देश में नौवें नंबर पर पहुंच गया है.

One thought on “छत्तीसगढ़ में बिजली कटौती का रिकार्ड टूटा

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!