उपग्रह भेदी हथियार बनाने में सक्षम डीआरडीओ

नई दिल्ली | एजेंसी: रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डीआरडीओ) के प्रमुख अविनाश चंदर ने शुक्रवार को यहां कहा कि देश के पास उपग्रह भेदी हथियारों के निर्माण की क्षमता है, लेकिन ऐसी किसी गतिविधि की योजना नहीं है, जिससे अंतरिक्ष के शांतिपूर्ण उपयोग पर असर पड़े.

डेफएक्सपो, 14 में यहां मीडियाकर्मियों से चर्चा करते हुए चंदर ने कहा कि उपग्रह भेदी क्षमता में लक्ष्य तक पहुंचना और सटीक नोक के बराबर हमला करना शामिल होता है.

चंदर ने कहा, “कॉन्फिगरेशंस उपलब्ध हैं. हमें भरोसा है कि हम इसे विकसित कर सकते हैं.”

चंदर ने हालांकि कहा कि ऐसी गतिविधि की कोई योजना नहीं है, जिससे अंतरिक्ष पर असर पड़े.

एक अन्य सवाल के जवाब में चंदर ने कहा कि डीआरडीओ उच्च ऊर्जा प्रणालियों से संबंधित प्रौद्योगिकियों पर काम कर रहा है.

error: Content is protected !!