बस्तर में नक्सलियों पर राजनीति तेज

जगदलपुर | समाचार डेस्क: छत्तीसगढ़ के बस्तर में पुलिस के सहायक आरक्षक के अपहरण पर राजनीति शुरु हो गई है. आम आदमी पार्टी की नेत्री सोनी सोरी ने बकायदा प्रेस सम्मेलन बुलाकर आरोप लगाया कि पुलिस ने पिड़मेल गांव के 25 लोगों का अपहरण कर लिया है. सोनी सोरी के अनुसार पुलिस बंधक ग्रामीणों को तभी छोड़ेगी जब नक्सली अपहृत सहायक पुलिस आरक्षक को छोड़ेगे.

सोनी सोरी के साथ पत्रकार वार्ता के समय अपहृत सहायक आरक्षक कलमू हिड़मा की मां रामी कलमू भी थी. सोनी सोरी का आरोप है कि पुलिस ने 25 महिला एवं बच्चों का अपहरण कर लिया है.


उन्होंने इसे निहायत ही गलत परंपरा करार देते हुये इसकी निंदा की है.

सहायक आरक्षक के परिजनों के अनुसार पुलिस ने पहले गोडेल गांव के लोगों का अपहरण कर लिया था अब उन्हें छोड़कर पिड़मेल गांव के लोगों को बंधक बना लिया है.

वहीं, दूसरी तरफ बस्तर के ही तोंगपाल में लोगों ने नामा निवासी सामनाथ बघेल की नक्सलियों द्वारा की गई हत्या के विरोध में रैली निकाली तथा प्रदर्शन किया. प्रदर्शनकारियों ने राष्ट्रीय राजमार्ग क्रमांक 30 को दो घंटे के लिये जाम भी कर दिया.

इस दौरान प्रदर्शनकारियों ने नक्सलियों के कथित समर्थक सामाजिक कार्यकर्ताओं के खिलाफ हत्या का प्रकरण दर्ज कने की मांग दी. गौरतलब है कि नक्सलियों ने नामा गांव के सामनाथ बघेल की धारदार हथियार से हत्या कर दी थी.

मृतक सामनाथ बघेल ग्राम सुरक्षा समिति का अध्यक्ष था. उल्लेखनीय है कि सामनाथ बघेल की अगुवाई में सामाजिक कार्यकर्ता नंदिनी सुंदर के खिलाफ पुलिस में रिपोर्ट दर्ज कराई गई थी.

प्रदर्शनकारियों ने राषट्रपति के नाम भेजे ज्ञापन में सामाजिक कार्यकर्ता नंदिनी सुंदर के खिलाफ मामला दर्ज करने की मांग की है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!