बकरे के लिये पिता को हलाल किया

बिलासपुर | संवाददाता: छत्तीसगढ़ में एक 19 वर्षीय बेटे ने बकरे के लिये अपने पिता की हत्या कर दी. दरअसल, पिता घऱ में पलने वाले एक बकरे को पकाकर खा गया था. जिससे दोनों में झड़प हो गई. इस दौरान गला दबाने से पिता की मौत हो गई.

मिली जानकारी के अनुसार मुंगेली के फास्टरपुर के सेतगंगा में रहने वाले 37 वर्षीय पंचू यादव की मौत हो गई थी. रात को उसके बेटे संजय यादव ने पड़ोसियों को बताया कि उकसे पिता की मौत हार्ट अटैक से हो गई है. दूसरे दिन जब मृतक को चिता पर रखकर अंतिम संस्कार की तैयारी चल रही थी तो मुखबिर की सूचना पर वहां पर पुलिस पहुंच गई.


पुलिस ने लाश को चिता से उठवाकर उसका पोस्टमार्टम करवाया. पोस्टमार्टम से पता चला कि मौत का कारण चोट लगना है. पत्तासाजी करने पर पुलिस को पता चला कि उसका 19 वर्षीय बेटा संजय यादव ही हत्यारा है.

पूछताछ करने पर पता चला कि पंचू यादव बकरी पालने का काम करता था. जिसमें उसे संजय यादव मदद करता था. 27 नवंबर को पंचू यादव ने अपने बेटे की मर्जी के बिना ही एक छः माह के बकरे को पकाकर खा लिया. जिससे उसका बेटा नाराज हो गया. बेटा संजय यादव उस बकरे को पालना चाहता था.

इस बात को लेकर दोनों के बीच रात को झगड़ा हो गया. जिसमें दोनों एक दूसरे का गला दबाने लगे. गला दबने से पित पंचू यादव की मौत हो गई. उसके बाह बेटे संजय यादव ने पड़ोसियों को पिता के हार्ट अटैक से मृत्यु होने की झूठी खबर दी थी.

पड़ोसियों ने भी इसे साधारण मौत मान लिया था परन्तु पुलिस को सुखबिर से सूचना मिली थी कि उसकी हत्या की गई है. उसके बाद पुलिस अधीक्षक नीथू कमल तथा एसडीओपी ओम चंदेल के निर्देश पर फास्टरपुर पुलिस ने चिता से लाश उठवाकर उसका पोस्टमार्टम करवाया.

पुलिस ने आरोपी संजय यादव को धारा 302 के तहत गिरफ्तार कर अदालत में पेश किया जहां से उसे जेल भेज दिया गया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!