छत्तीसगढ़ पर्यटन की आड़ में यह सब?

रायपुर | समाचार डेस्क: छत्तीसगढ़ पर्यटन विभाग के मोटेल में देह व्यापार धड़ल्ले से जारी है. इसका खुलासा जब हुआ जब सूचना के आधार पर छत्तीसगढ़ पुलिस ने राजधानी के पास अभनपुर स्थित पंडवानी रेसोर्ट से दो जोड़ों को रंगे हाथ पकड़ा. इनमें से एक लड़की नाबालिक निकली जो भागने के चक्कर में पुलिस के जाल में आ फंसी. सबसे हैरत की बात है कि पंडवानी रिसोर्ट के आगुंतक रजिस्टर में इनके नाम की एंट्री नहीं हुई थी. जाहिर है कि छत्तीसगढ़ में पर्यटन के नाम पर निजी ठेकेदार धड़ल्ले से इन सरकारी मोटल में सेक्स की सैरगाह बनाकर पैसे कमा रहें हैं.

गुरुवार को छत्तीसगढ़ पुलिस ने अभनपुर के पंडवानी रिसोर्ट में छापा मारकर चार लोगों को गिरफ्तार कर लिया. पुलिस पंडवानी रिसोर्ट के संचालक पर इस सेक्स रैकेट में मिली भगत की आशंका व्यक्त कर रही है. गौरतलब है कि पिछले साल भी बस्तर में एक ऐसे ही देह व्यापार गिरोह का छत्तीसगढ़ पुलिस ने भंडाफोड़ किया था, जो नाबालिग बच्चों को इस दलदल में धकेलने का काम करता था.


उल्लेखनीय है कि छत्तीसगढ़ पर्यटन विभाग के मोटेल्स को चलाने की जिम्मेदारी कई स्थानों पर निजी ठेकेदारों को दी गई है. पंडवानी रिसोर्ट भी निजी ठेकेदार के द्वारा संचालित है.

पंडवानी रिसोर्ट में देह व्यापार की जानकारी मिलने पर छत्तीसगढ़ पर्यटन बोर्ड के निदेशक संतोष मिश्रा ने समाचारों के हवाले से बताया कि पंडवानी रिसोर्ट के ठेकेदार को अनुबंध समाप्त करने का नोटिस जारी कर दिया गया है. हालांकि सरकार की ओर से ठेका कंपनी पर कोई कानूनी कार्रवाई अब तक नहीं की गई है.

पर्यटन के लिये बनाये गये सरकारी रिसोर्ट में जिसके संचालन की जिम्मेदारी निजी ठेकेदार को दी गई है, में देह व्यापार के संचालन से कई सवाल उठ खड़े हुये हैं. सरकार के संचालन में चलने वाले किसी उपक्रम में अगर देह व्यापार जैसी गतिविधियां चल रही हों तो इसका पर्यटन व्यवसाय पर भी फर्क पड़ेगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!