सरगुजा: BSc वाले MA नहीं कर सकते

अंबिकापुर | संवाददाता: सरगुजा यूनिवर्सिटी ने BSc वालों का MA का फॉर्म निरस्त कर दिया है. छत्तीसगढ़ के सरगुजा यूनिवर्सिटी में साइंस के स्नातक करीब 1500 छात्रों का एमए प्रीवियस के प्राइवेट के फॉर्म निरस्त कर दिये हैं. सरगुजा यूनिवर्सिटी अब इन्हें इनकी परीक्षा फीस वापस देने की तैयारी कर रहा है. इसके तहत एमए फायनल के छात्रों का परीक्षा फॉर्म निरस्त नहीं किया गया है. गौरतलब है कि एमए की परीक्षा 1 अप्रैल से शुरु हो रही है.

प्राइवेट से एमए की परीक्षा में शामिल होने वाले छात्र फार्म भरने के बाद ही इसकी तैयारी में जुट गये हैं. यदि परीक्षा के वक्त उनके फार्म निरस्त किए जाते हैं तो ऐसे सैकड़ों छात्रों का एक साल खराब हो जायेगा.


सरगुजा यूनिवर्सिटी में साइँस से स्नातक करने वाले रेगुलर तथा प्राइवेट के छात्रों ने ऑनलाइन फॉर्म भरा था. उस समय इसकी जानकारी नहीं दी गई थी. अब ऐन परीक्षा के पहले उनके फॉर्म निरस्त कर दिये गये हैं. इससे छात्रों में आक्रोश है तथा उन्होंने बुधवार को इसके विरोध में प्रदर्शन किये.

यूनिवर्सिटी प्रबंधन द्वारा फार्म निरस्त करने के पीछे यूजीसी के नियमों का हवाला दिया जा रहा है. यूनिवर्सिटी का कहना है कि यूजीसी की गाइड लाइन काफी पुरानी है. इसके अनुसार कोई छात्र उसी विषय में पीजी कर सकता हैं, जिसमें उसने स्नातक किया हो. ऐसे में बीएससी के छात्र एमए का फार्म नहीं भर सकते हैं. इसलिए इस साल से एमए में ऐसे छात्रों के परीक्षा फार्म निरस्त किये गये हैं जो बीएससी पास आउट हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!