पास्ता, मैक्रोनी की जांच होगी

रायपुर | संवाददाता: छत्तीसगढ़ में मैगी के बाद पास्ता-मैक्रोनी की भी जांच कराई जायेगी. छत्तीसगढ़ के राज्य खाद्य एवं औषधि प्रशासन विभाग के नियंत्रक रविप्रकाश गुप्ता ने संबंध में जांच के आदेश पहले ही दे दिये हैं. जलद ही अन्य उत्पादों की जांच की जायेगी कि कहीं उनमें भी लेड तो नहीं है. इसके अलावा इसकी भी जांच की जायेगी कि कहीं उनके भी विज्ञापन के जरिये उपभोक्ताओं को भ्रमित तो नहीं किया जा रहा है.

राज्य खाद्य एवं औषधि प्रशासन विभाग ने स्पष्ट कर दिया है कि मैगी को भले ही विभाग ने सीज किया हो, लेकिन उसे नष्ट नहीं किया जाएगा. डिस्ट्रीब्यूटर कंपनी को वापस करेंगे. कंपनी इसे नष्ट करेगी. गौरतलब है कि रायपुर से 15000 से अधिक मैगी के कॉर्टन सीज किए गए थे.


उल्लेखनीय है कि गोंगाव स्थित महावीर लॉजिस्टिक डिपो से 13500 कॉर्टन जब्त हुए थे, जो छत्तीसगढ़ में मैगी की सभी डिस्ट्रीब्यूटर को सप्लाई करने वाली एजेंसी है. महावीर लॉजिस्टिक में गोवा यूनिट में बनी मैगी पहुंची है, गोवा सरकार द्वारा करवाई गई मैगी की जांच में लेड नहीं मिला था.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!