तेलंगाना में बंधक 24 छत्तीसगढ़िया

दंतेवाड़ा | संवाददाता: छत्तीसगढ़ के 24 लोगों को तेलंगाना में बंधक बना लिया गया है. इसकी जानकारी तब मिली जब उनके साथ गये दो अन्य लोग वापस आ गये. दरअसल उनमें से एक मानसिक रूप से विक्षिप्त हो गया है तो उसे लेकर दूसरा ग्रामीण वापस मोखपाल पहुंचा. तमाम दावों के बाद भी छत्तीसगढ़ के गांवों से दिगर राज्यों में पलायन नहीं रुक रहा है.

मिली जानकारी के अनुसार भीमा जब यहां से गये था तब एकदम ठीक था लेकिन वहां उसके साथ किये जा रहे अत्याचार के कारण वह मानसिक रूप से बीमार हो गया. तब उसे अन्य ग्रामीण लक्ष्मण के साथ वापस भेज दिया गया. इन दोनों ग्रामीणों ने दंतेवाड़ा पहुंच सारा माजरा महिला कांग्रेस की अध्यक्ष तुलिका कर्मा को बताया. इसके बाद ग्रामीणों ने कलेक्टोरेट पहुंच बंधक मजदूरों को छुड़ाने की मांग की.


लक्ष्मण का कहना है कि उन्हें तीन महीने पहले रामबाबू गांव से ले गया था. तेलंगाना ले जाते समय उन्हें हर माह 5 हजार प्रतिमाह देने की बात हुई थी. परन्तु वहां ले जाकर उऩके साथ मारपीट की जाती है तथा उन्हें वापस लौटने नहीं दिया जा रहा है.

घटना की जानकारी मिलते ही जिला कलेक्टर ने तत्काल मोखपाल टीम रवाना कर दी है. डिप्टी कलेक्टर व तहसीलदार के नेतृत्व में टीम शुक्रवार को ही मोखपाल पहुंची और पूरे मामले की जांच कर ग्रामीणों का बयान दर्ज किया.

जानकारी का अभाव होने के कारण ग्रामीण जगह का नाम सही नहीं बता पा रहे. ग्रामीणों ने पहले कोलापुरम बताया, उसके बाद कन्नूरू बताया है. ऐसे में प्रशासन अब सही गांव का पता लगा रहा है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!