छत्तीसगढ़: इंकारे ईश्क पर सरेआम हत्या

रायपुर | संवाददाता: ईश्क से इंकार करने पर किशोरी की हत्या कर दी गई. एक 17 वर्षीया किशोरी द्वारा प्रेम-पत्र लेने से इंकार किये जाने पर 30 वर्षीय शादीशुदा प्रेमी ने उस पर चाकू से 17 वार किये. जिससे किशोरी की मौत हो गई है. घटना बोरियाकला तालाब के पास की गुरुवार के सुबह की है. पुलिस ने हत्यारे एकतरफा प्रेमी को गिरफ्तार कर लिया है.

बोरियाकला तालाब के पास रहने वाले सत्यानारायण धृतलहरे की सबसे छोटी बेटी 17 वर्षीया धनेश्वरी धृतलहरे गांव के हाईस्कूल में 11वीं कक्षा की छात्रा थी. उसी इलाके में रहने वाला 30 वर्षीय योगेश उर्फ लालाराम वर्मा किशोरी से एकतरफा इश्क करता था. रात में नाचा कार्यक्रम आयोजित होने से पूरा गांव कार्यक्रम देखने के लिए गया हुआ था जहां धनेश्वरी भी गई हुई थी. सुबह-सुबह गांव के लोग अपने-अपने घर पहुंचे.


घर पहुंचने के बाद धनेश्वरी शौच के लिये गई. जब वह वहां से लौट रही थी तो रास्ते में उसे योगेश ने रोक लिया तथा प्रेम-पत्र देने की कोशिश की. धनेश्वरी ने प्रेम-पत्र लेने से इंकार कर दिया. इससे कुपित होकर योगेश ने चाकू निकाली तथा उस पर ताबड़तोड़ 17 वार कर दिये. चाकू मारने के बाद योगेश वहां से भाग निकला. बाद में पुलिस ने उसे खेत से गिरफ्तार किया.

मिली जानकारी के अनुसार कुछ दिनों पहले योगेश ने उसके स्कूल के क्लास में घुसकर भी उससे बत्तमीजी की थी. योगेश ने धनेश्वरी को क्लास से खींचकर ग्राउंड ले गया तथा उससे बदसलूकी की थी. टीचर भी युवक की हरकत देखकर दंग रह गये.

हालांकि इसकी शिकायत किसी ने थाने में नहीं की गई. यदि उस समय छेड़खानी की शिकायत पुलिस से कर दी होती तो योगेश को पहले ही सबक सिखाया जा सकता था.

धनेश्वरी के पिता सत्यनारायण खेती-किसानी का काम करते हैं. उनके तीन बेटे लखन, डोमार और भूषण हैं. वहीं चार बेटियों कविता, हीरा, फुलेश्वरी में सबसे छोटी धनेश्वरी ही थी.

घटना की खबर मिलने पर हर कोई हैरान है. गांव में मातम का माहौल है. वहीं युवक और उसके परिवार के खिलाफ गांव में आक्रोश भी है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!