छत्तीसगढ़: आयकर के रडार में पेट्रोल पंप

बिलासपुर | संवाददाता: केन्द्रीय आयकर विभाग के आदेश पर जिले में पेट्रोल पंपो पर आयकर विभाग की नज़र है. आयकर विभाग के पास पुख्ता जानकारी है कि नोटबंदी के दैरान जब पेट्रोल पंपों को पुराने नोट लिये जाने की अनुमति दी गई थी तो भारी मात्रा में घपला किया गया है. एक तरफ पेट्रोल पंप वाले ग्राहकों से 500 और 1000 के पुराने नोट नहीं ले रहे थे लेकिन दूसरी तरफ कमीशन लेकर इन नोटों को बदला जा रहा था.

आयकर विभाग के सूत्रों का कहना है कि पेट्रोल पंपों ने इस दौरान अपने स्टाक को भी बढ़ा-चढ़ाकर बताया है. मसलन जिसके स्टाक में 50 किलोलीटर तेल था वह उसे 80 से 100 किलोलीटर का बता रहा है. जबकि इस दौरान इतना तेल उन्होंने खरीदा ही नहीं था.


आयकर विभाग डीलरों से कितना पेट्रोल लिया गया था उसकी ऑनलाइऩ जांच कर रहा है. साथ ही इन पेट्रोल पंपों के बैंक अकाउंट भी खंगाले जा रहें हैं कि नोटबंदी के दौरान उन्होंने कितने पुराने नोट जमा कराये थे.

उल्लखनीय है कि राजधानी रायपुर के बाहरी पेट्रोल पंपों पर 30 फीसदी की कमीशन लेकर पुराने नोट खपाये जाने की खबरें आई थी.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!