छत्तीसगढ़: मदमस्त हाथियों का आतंक

अंबिकापुर | संवाददाता: अंबिकापुर के आसपास मदमस्त हाथी विचरण कर रहें हैं. हाथी कभी गन्ने के में घुसकर वहां तबाही मचा देते हैं तो कभी उनके निकट आने वाले ग्रामीणों को पटक-पटककर मार डालते हैं. कुछ दिनों पहले हाथियों ने इसी क्षेत्र में दो लोगों को मार डाला था. बीती रात हाथियों का दल दरिमा के निकट के नवानगर की बस्ती में घुस गया.

मिली जानकारी के 11 हाथियों के दल के बस्ती में घुस आने से दहशत फैल गई. लोग घरों से निकलकर सुरक्षित स्थान की ओर भागे. कड़कड़ती ठंड में भी लोग बच्चों सहित घर से बाहर रहने को मजबूर हो गये. ग्रामीणों को डर सता रहा था कि कहीं हाथी उनके घरों पर हमला न कर दे. देर रात हाथियों के गांव से निकलने के बाद लोगों ने राहत की सांस ली है.


तीन दिनों पूर्व इन्ही हाथियों ने लुण्ड्रा, बतौली के कई गांवों में तोड़फोड़ की थी. वहीं इन हाथियों ने दो लोगों को मौत के घाट उतार दिया था.

लुण्ड्रा से मोहनपुर पहुंचने की राह में इन हाथियों ने 20 एकड़ धान की फसल को खराब कर दिया है.

11 हाथियों का दल अब भी मैनपाट के तराई वाले इलाकों में विचरण कर रहा है.

2 thoughts on “छत्तीसगढ़: मदमस्त हाथियों का आतंक

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!