भोपाल गैस पीड़ितों को 10 गुना कैंसर

भोपाल | समाचार डेस्क: भोपाल गैस पीड़ितों के इलाकें में अन्य इलाकों की तुलना में 10 गुना ज्यादा कैंसर से पीड़ित हैं. इसका खुलासा हाल ही में संभावना ट्रस्ट द्वारा कराये गये शोध के प्रारंभिक नतीजों से हो रहा है. भोपाल के गैस पीड़ित 32 साल पहले हुये भोपाल गैस हादसे के विरोध में 3 दिसंबर को अमरीका का झंडा जलायेंगे.

इसका फैसला भोपाल गैस पीड़ितों के लिये लड़ने वाले पांच संगठनों में मिलकर किया है.

संभावना ट्रस्ट द्वारा कराये गये शोध से पता चला है कि भोपाल गैस पीड़ितों की बस्ती में रहने वालों को दूसरे इलाकों में रहने वालों की तुलना में किडनी, गले तथा पेफड़े का कैंसर 10 गुना ज्यादा है. इतना ही नहीं भोपाल गैस पीड़ितों की बस्ती में टीबी तथा पक्षाघात भी तेजी से पनप रहा है.

उल्लेखनीय है 2-3 दिसंबर 1984 दी दरम्यानी रात को भोपाल के यूनियन कार्बाइट फैक्ट्री से ‘मिक’ गैस का रिसाव हुआ था. जिसके 1 सप्ताह के भीतर 3 हजार लोगों की मौत हो गई थी.

इस शोध में कनाडा तथा स्विटजरलैंड से आये डॉक्टरों ने भाग लिया है.

error: Content is protected !!