B’desh: FB से बवाल, हिन्दुओं पर हमले

नई दिल्ली | समाचार डेस्क: FB पोस्ट के बाद बांग्लादेश में हिन्दूओं पर हमले किये गये. फेसबुक पर एक आपत्तिजनक पोस्ट के बाद भड़की उन्माद के बाद वहां के हिन्दुओं पर हमले किये गये. किसी ने फेसबुक पर मक्का की फोटो को एडिट करके उस पर हिन्दुओं के भगवान शिव की फोटो लगा दी थी. जिसके बाद बांग्लादेश के ब्राह्मणबाड़िया जिले में हिंसा भड़क उठी. मिली जानकारी के अनुसार हिन्दुओं के 15 मंदिरों में तोड़पोड़ की गई तथा 200 के करीब हिन्दुओं के घरों पर हमले किये गये. इसके बाद से सोशल मीडिया में #बांग्लादेश तथा #BanglaDesh ट्रेंड कर रहा है.

बांग्लादेश में कम से कम 15 हिंदुओं के घरों और मंदिरों पर रविवार को हिंसक हमला किया गया. बांग्लादेशी मीडिया के अनुसार ये हमले तब हुए जब कुछ संगठन मक्का स्थित मस्जिद अल-हरम के ऊपर की गई एक फेसबुक पोस्ट के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर रहे थे.

बांग्लादेशी अखबरा डेली स्टार के अनुसार हिफाजत-ए-इस्लाम और अहले सुन्नत के कार्यकर्ताओं समेत हजारों लोगों ने ब्राह्मणबाड़िया जिले के नासिरनगर में रविवार को अलग-अलग विरोध रैली निकाली.

प्रदर्शनकारी फेसबुक पोस्ट लिखने वाले को मौत की सजा देने की मांग कर रहे थे. ब्राह्मणबाड़िया के पुलिस अधीक्षक मिजानुर रहमान ने अखबार को बताया कि करीब 150-200 लोगों ने पांच मंदिरों की सात-आठ मूर्तियां तोड़ दीं. दो लोग इस दौरान घायल हो गये और पुलिस ने छह लोगों को हिरासत में लिया है. करीब 500 अज्ञात लोगों पर पुलिस ने मामला दर्ज किया है.

नासिरनगर पूजा कमेटी के जनरल सेक्रेटरी खईलपदा पोद्दार के अनुसार करीब 15 हिंदू मंदिरों पर हमला किया गया और उन्हें लूट लिया गया. पोद्दार ने दावा किया कि करीब 200 हिंदू घरों पर हमले किए गये और लूट-पाट की गई.

पुलिस अधीक्षक के अनुसार पुलिस ने हालात पर काबू पा लिया है और इलाके में शांति व्यवस्था बहाल हो चुकी है. पुलिस दोषियों को गिरफ्तार करने के लिये छापे भी मार रही है. इलाके में बड़ी संख्या में पुलिस बल, रैपिड एक्शन बटालियन और पैरामिलिट्री बॉर्डर गॉर्ड, बांग्लादेश के जवानों को तैनात किया गया है.

बांग्लादेशी पुलिस ने डेली स्टार अखबार को बताया कि करीब 500 लोगों पर दो अलग-अलग मामले दर्ज किये गये हैं. नासिरनगर थाने के प्रभारी ने अखबार को बताया कि ये हमले काशीपारा, दासपारा, घोषपारा, दत्तापारा और नोमोशुद्रापारा इलाके में हुये. वहीं हिंदू मंदिरों और घरों पर हमले के विरोध में भी स्थानीय नागरिक “संप्रति समाबेष” के बैनर तले एक रैली निकालने वाले हैं.

बांग्लादेश में पिछले कुछ सालों में कट्टरपंथियों ने कई ब्लागरों की हत्या कर दी है. वहीं बांग्लादेश की अदालत ने कई 1971 के युद्ध अपराधियों के लिए कई कट्टरपंथियों मौत की सजा दी है.

बांग्लादेश में कई आतंकवादी संगठनों का कुख्यात आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट से भी संपर्क पाया गया है. अभी हाल ही में बांग्लादेश की राजधानी ढाका में एक संभ्रांत इलाके में आतंकवादियों ने हमला करके कई विदेशी नागरिकों की जान ले ली थी.

error: Content is protected !!