भूकंप में मृतकों का आंकड़ा 250 पार

इस्लामाबाद एजेंसी: पाकिस्तान में आए भूकंप में मरने वालों की संख्या बढ़कर 238 हो गई है. यह जानकारी एक अधिकारी ने बुधवार को दी. जियो न्यूज के मुताबिक, बलूचिस्तान सरकार के प्रवक्ता जान मुहम्मद बुलेदी ने बुधवार को मृतकों की संख्या की पुष्टि की.

बुलेदी ने कहा कि बलूचिस्तान के सभी छह जिले तुर्बत, अवारन, पांजगोर, चागी, खुजदर और ग्वादर भूकंप से प्रभावित हुए हैं, जिसमें अवारन में सबसे ज्यादा तबाही हुई है.


अवारन और इसके पड़ोसी जिलों में रिक्टर पैमाने पर 7.7 तीव्रता वाला भूकंप मंगलवार शाम 4.29 बजे महसूस किया गया.

समाचार एजेंसी सिन्हुआ के मुताबिक, पाकिस्तान मौसम विज्ञान विभाग ने कहा है कि भूकंप के बाद कई झटके महसूस किए गए. इनमें से एक की तीव्रता रिक्टर पैमाने पर 5.9 थी. बलूचिस्तान के अलावा दक्षिणी सिंध और पूर्वी पंजाब प्रांत में भी तेज झटके महसूस किए गए.

अवारन के उपायुक्त रशीद गदोजई ने अवारन में एक लाख लोगों के प्रभावित होने की संभावना जताई है. अवारन बलूचिस्तान के सबसे गरीब जिलों में से एक है, जिसकी आबादी 1,20,000 से कम है.

इस बीच, हताहतों को लेकर विरोधाभासी खबरें आई हैं. राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (एनडीएमए) ने मृतकों की संख्या 50 बताई है.

गदोजई ने बताया कि प्रभावित इलाकों की वास्तविक स्थिति स्पष्ट नहीं है, क्योंकि भूकंप प्रभावित कई गांवों में पहुंच पाना आसान नहीं है.

बलूचिस्तान सरकार ने भूकंप प्रभावित छह जिलों में आपातकाल घोषित कर दिया है और सेना एवं अन्य सुरक्षा बलों के साथ राहत कार्य शुरू किया है.

सेना के सूत्रों ने बताया कि पाकिस्तानी सेना ने बुधवार को प्रभावित इलाकों में 600 अतिरिक्त जवानों को भेजा है. राहत कार्य में अब तक 900 सैनिक तैनात किए जा चुके हैं.

सेना ने बलूचिस्तान के मध्यवर्ती खुदजा जिले में राहत शिविर स्थापित किया है जो भूकंप के केंद्र से 120 किलोमीटर पूर्वोत्तर में स्थित है.

अवारन के अधिकारियों ने कहा कि राहत कार्य में एक बड़ी समस्या चिकित्सकों एवं स्वास्थ्य सेवा की कमी को लेकर है. कई घायलों को कराची के अस्पताल में स्थानांतरित किया गया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!