परवेज़ रसूल की अनदेखी से खेल प्रेमी नाराज़

नई दिल्ली: भारतीय क्रिकेट टीम में चुने जाने वाले पहले कश्मीरी क्रिकेटर परवेज़ रसूल को जिम्बाब्वे के दौरे पर ले जाकर एक भी मैच नहीं खिलाए जाने को लेकर कई खेलप्रेमियों में नाराज़गी है. रसूल की इस अनदेखी को लेकर केंद्रीय मंत्री शशि थरूर और जम्मू-कश्मीर के मुख्यमंत्री उमर अबदुल्ला ने हैरानी के साथ-साथ अफसोस भी जताया है.

उमर अबदुल्ला ने भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) को निशाने पर लेते हुए ट्वीट किया है कि ‘क्या आपको उसका मनोबल गिराने के लिए जिम्बाब्वे ले जाने की जरूरत थी? क्या घरेलू सरजमीं पर ही ऐसा करना सस्ता नहीं होता?’.

उनके अलावा शशि थरूर ने भी इस पर हैरानी जताते हुए ट्वीट कर कहा है कि रसूल को जडेजा या रैना की जगह खिलाय़ा जा सकता था. इससे पहले भी उमर अबदुल्ला ने गुरूवार को ट्वीट कर बीसीसीआई से रसूल को मैच खिलाने की गुजारिश की थी. उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा था ‘बीसीसीआई, रसूल को साबित करने का मौका दो’.

गौरतलब है कि भारत ने जिम्बाब्वे में पाँच मैंचों की सीरिज़ 5-0 से जीत ली है. शनिवार को सीरीज़ का आखिरी मैच था जिसमें भी परवेज़ रसूल को नहीं मौका दिया गया. भारतीय टीम प्रबंधन के इस कदम की खेल जगत में बहुत आलोचना हो रही है.

error: Content is protected !!