व्यापमं: जांच की निगरानी करे SC

Sunday, July 5, 2015

A A

आम आदमी पार्टी

नई दिल्ली | एजेंसी: आप ने व्यापमं घोटाले की जांच की निगरानी सर्वोच्य न्यायालय से करने को कहा है. आप ने आरोप लगाया है कि व्यापमं अब घोटाला न रह के नरसंहार बन गया है. आम आदमी पार्टी ने रविवार को कहा कि एक टेलीविजन रिपोर्टर की संदिग्ध परिस्थितियों में हुई मौत को देखते हुए सर्वोच्च न्यायालय को मध्य प्रदेश के व्यावसायिक परीक्षा मंडल घोटाले की विशेष जांच दल द्वारा की जा रही जांच पर नजर बनाए रखनी चाहिए.

आप प्रवक्ता दिलीप पांडे ने मीडिया से कहा, “यह दुखद है कि हमारे एक पत्रकार मित्र की व्यापमं घोटाले की रिपोर्टिग करने के दौरान मौत हो गई. व्यापमं अब घोटाला नहीं रहा, यह नरसंहार बन गया है.”

उन्होंने कहा कि सर्वोच्च न्यायालय को एसआईटी की जांच की निगरानी करनी चाहिए.

पांडे ने यह भी कहा कि मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और राज्यपाल राम नरेश यादव को उनके पद से हटाया जाना चाहिए.

आप नेता ने पूछा, “हम कैसे उम्मीद कर सकते हैं कि राज्यपाल निष्पक्ष जांच करेंगे, जब उनका नाम खुद व्यापमं घोटाले के प्राथमिकी में दर्ज है.”

इधर, मध्य प्रदेश में आप के संयोजक आलोक अग्रवाल ने कहा कि जब एसआईटी मौतों की जांच कर रही है, तब केंद्रीय जांच ब्यूरो को तत्काल जांच शुरू कर देनी चाहिए.

आप की तरफ से प्रतिक्रिया दिल्ली के पत्रकार अक्षय सिंह की मौत मध्य प्रदेश के झाबुआ जिले में व्यापमं मामले को कवर करने के दौरान हो जाने के बाद आई है.

अक्षय का अंतिम संस्कार यहां रविवार को किया गया. इस दौरान परिजन, कई पत्रकार और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल भी मौजूद थे.

मध्य प्रदेश में राजनीतिज्ञों, अधिकारियों तथा व्यवसायियों पर व्यापमं के प्रवेश तथा नियुक्ति गिरोह से जुड़े होने के आरोप लग रहे हैं.

2013 से लेकर अब तक इस मामले में 40 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है.

Tags: , ,