वीके सिंह के बयान पर बवाल

Tuesday, September 24, 2013

A A

पूर्व सेनाध्यक्ष वी के सिंह

नई दिल्ली | एजेंसी: पूर्व सेनाध्यक्ष वीके सिंह के बयान पर हंगामा मचा हुआ है. केंद्रीय गृह मंत्री सुशील कुमार शिंदे ने मंगलवार को कहा कि पूर्व थल सेना अध्यक्ष जनरल वी.के.सिंह को जम्मू एवं कश्मीर के उन मंत्रियों के नाम बताने चाहिए जिन्होंने सेना के गुप्त कोष से धन प्राप्त किया, ताकि मामले की जांच की जा सके. शिंदे ने संवाददाताओं से कहा, “जनरल वी.के.सिंह को हर हाल में राजनेताओं के नाम बताने चाहिए. यदि जनरल सिंह ब्योरा देते हैं तो हम मामले की जांच करा सकते हैं.”

उल्लेखनीय है कि वी.के.सिंह ने कहा है कि सेना ने जम्मू एवं कश्मीर के मंत्रियों को राज्य में स्थिरता कायम करने के लिए गुप्त कोष से धन उपलब्ध कराया था.

दूसरी ओर केंद्रीय नवीन और नवीकरणीय ऊर्जा मंत्री फारुख अब्दुल्ला ने मंगलवार को कहा कि पूर्व थलसेना अध्यक्ष जनरल वी.के.सिंह के दावे की केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) से जांच कराई जानी चाहिए. पूर्व सेनाध्यक्ष ने एक बयान में दावा किया है कि सेना स्थिरता कायम रखने के लिए जम्मू एवं कश्मीर के मंत्रियों को नियमित तौर पर धन उपलब्ध कराती है.

संवाददाताओं से बातचीत में जम्मू एवं कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री अब्दुल्ला ने जनरल सिंह के रहस्योद्घाटन को “भयानक” बताया और कहा कि सेना को गैरराजनैतिक रहना चाहिए.

अब्दुल्ला ने कहा, “समय आ गया है कि इस बात की सीबीआई जांच कराई जाए कि क्या धन उपलब्ध कराया गया था, और किन लोगों ने उसे हासिल किया था और कैसे उस धन का उपयोग किया गया.”

यह पूछे जाने पर कि क्या उनके बेटे और मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला को इस रहस्योद्घाटन के बारे में पता है, फारुख ने कहा, “मुझे नहीं पता कि मेरा बेटा इसके बारे में जानता है या नहीं?”

उन्होंने कहा कि वी.के.सिंह के बयान को उन्होंने केवल मीडिया के माध्यम से ही सुना है. “मैं बहुत दुखी महसूस कर रहा हूं कि सेना कोष का उपयोग इस तरह से करती है.”

Tags: , , ,