भटकल से मिले अहम सुराग

Monday, August 11, 2014

A A

यासीन भटकल

लखनऊ | एजेंसी: यासीन भटकल से पूछताछ में उत्तर प्रदेश एटीएस को कई अहम सुराग हाथ लगे हैं. इंडियन मुजाहिदीन के सह संस्थापक भटकल से पूछताछ के लिए नई दिल्ली गई एटीएस की टीम ने उससे गहन पूछताछ की. एटीएस सूत्रों के मुताबिक भटकल ने वर्ष 2010 में वाराणसी में हुए शीतलाघाट सीरियल बम धमाकों में हाथ होने की बात कबूल की है.

उसने एटीएस को बताया कि बम धमाकों की साजिश उसने असादुल्लाह उर्फ हड्डी के साथ मिलकर रची थी. एटीएस के अधिकारी उससे उन हवाला कारोबारियों का नाम उगलवाने की कोशिश कर रहे हैं जिनके जरिये आतंकी घटनाओं को अंजाम देने के लिए पैसों का बंदोबस्त किया जाता था.

एटीएस सूत्रों की मानें तो यासीन भटकल से पूछताछ में उनके हाथ कई अहम जानकारियां लगी हैं जिनके आधार पर जल्द की कुछ गिरफ्तारियां की जा सकती हैं. लंबे समय से देश के विभिन्न शहरों में आतंकी हमलों को अंजाम देने वाले आईएम के कई कुख्यात आतंकी एनआईए के हत्थे चढ़ चुके हैं. इन सभी से कई प्रदेशों की सुरक्षा एजेंसियां भी लगातार पूछताछ कर रही हैं.

आईएम के सरगना यासीन भटकल वाराणसी में हुए शीतलाघाट बम धमाकों का मुख्य आरोपी है जिसकी वजह से एटीएस को भी उससे पूछताछ की इजाजत मिली है. शुक्रवार को एटीएस की टीम ने यासीन भटकल से गहन पूछताछ की. भटकल ने एटीएस के अधिकारियों को बताया कि वाराणसी में बम धमाकों को अंजाम देने के लिए उसके साथ तहसीन अख्तर उर्फ मोनू, वकास व असदुल्लाह ‘हड्डी’ बिहार से उसी दिन ट्रेन से आये थे.

बम रखने के बाद वे मुगलसराय जंक्शन पहुंचे और एक्सप्रेस ट्रेन से बिहार वापस चले गये थे. एटीएस के अधिकारियों ने यासीन से पूर्वी उप्र व नेपाल सीमा से सटे इलाकों में उसके सम्पर्क के बारे में भी पूछताछ की.

इसके अलावा एटीएस ने उन हवाला कारोबारियों के बारे में भी उससे पूछताछ की जिनके जरिये खाड़ी देशों से आतंकी गतिविधियों के लिए पैसों का लेन-देन होता है. एटीएस के सूत्रों की मानें तो यासीन भटकल से पूछताछ में उनके हाथ कई अहम जानकारियां लगी हैं जिनके आधार पर जल्द की कुछ गिरफ्तारियां की जा सकती हैं.

Tags: , , , , ,