सिक्का होंगे इंफोसिस के नए सीईओ

Thursday, June 12, 2014

A A

इंफोसिस

बेंगलुरू | एजेंसी: सूचना प्रौद्योगिकी क्षेत्र की देश की अग्रणी कंपनी इंफोसिस के नए मुख्य कार्यकारी अधिकारी और प्रबंध निदेशक विशाल सिक्का होंगे. वह एक अगस्त को पदभार ग्रहण करेंगे. वहीं, इंफोसिस के सह-संस्थापक और अध्यक्ष एन.आर. नारायणमूर्ति कंपनी के कार्यकारी अध्यक्ष के पद से 14 जून को इस्तीफा देंगे. कंपनी के शीर्ष पदों में बदलाव की घोषणा गुरुवार को कंपनी की ओर से जारी एक बयान में की गई है.

यह घोषणा ऐसे में हुई है, जबकि दो दिन बाद ही शनिवार को कंपनी का 33वां वार्षिक महासम्मेलन होने जा रहा है. बयान के मुताबिक, इंफोसिस के एक अन्य सह-संस्थापक एवं उपाध्यक्ष एस. गोपालकृष्णन भी 14 जून को अपने पद से इस्तीफा देंगे, ताकि नए लोगों को कंपनी का नेतृत्व सौंपा जा सके.

मूर्ति ने पिछले साल कंपनी के संकट के दौरान इसे फिर से आगे ले जाने के लिए अपनी सेवानिवृत्ति समाप्त कर एक जून, 2013 को इसके कार्यकारी अध्यक्ष का पद संभाला था.

जर्मनी की सॉफ्टवेयर कंपनी एसएपी के पूर्व कार्यकारी 47 वर्षीय सिक्का 14 जून को कंपनी के निदेशक मंडल में पूर्णकालिक निदेशक के रूप में भी शामिल किए जाएंगे. वह कंपनी के मौजूदा मुख्य कार्यकारी अधिकारी एस.डी. शिबूलाल का स्थान लेंगे, जिन्होंने मार्च 2015 में सेवानिवृत्ति से पहले कंपनी छोड़ने की इच्छा जताई थी.

बयान में कहा गया है, “इंफोसिस निदेशक मंडल को यह घोषणा करते हुए खुशी हो रही है कि विशाल सिक्का का चयन कंपनी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी और प्रबंध निदेशक पद के लिए किया गया है.”

निदेशक मंडल ने कंपनी के अध्यक्ष एवं निदेशक यू.बी. प्रवीण राव को भी मुख्य ऑपरेटिंग अधिकारी के रूप में पदोन्नत कर दिया है. उनकी यह पदोन्नति 14 जून से प्रभावी होगी.

बयान के मुताबिक, “इंफोसिस के कार्यकारी अध्यक्ष के पद से मूर्ति और कार्यकारी उपाध्यक्ष के पद से गोपालकृष्णन अपनी इच्छा से इस्तीफे देने जा रहे हैं. वे हालांकि गैर-कार्यकारी अध्यक्ष तथा गैर-कार्यकारी उपाध्यक्ष के रूप में 10 अक्टूबर तक निदेशक मंडल में शामिल रहेंगे.”

वहीं, सिक्का ने एक बयान जारी कर कहा, “प्रौद्योगिकी क्षेत्र की अग्रणी कंपनी इंफोसिस के प्रमुख के रूप में नियुक्ति से सम्मानित महसूस कर रहा हूं. मैं दुनियाभर में इंफोसिस की प्रतिभाओं के साथ काम करने तथा उनसे सीखने के लिए तैयार एवं उत्साहित हूं.”

सिक्का ने मई में एसएपी छोड़ा था. कंपनी में प्रौद्योगिकी से संबंधित सभी तरह के उत्पादों की जिम्मेदारी सिक्का पर थी. उन्होंने अमेरिका के स्टैनफोर्ड विश्वविद्यालय से कम्प्यूटर साइंस में शोध किया है.

वहीं, मूर्ति ने इंफोसिस के नए सीईओ के रूप में सिक्का के चयन पर खुशी जताते हुए कहा, “इंफोसिस के सीईओ के रूप में सिक्का के चयन से मुझे खुशी हो रही है. उनके पास एक वैश्विक कंपनी में काम करने का अनुभव है. अपनी सूझबूझ एवं अनुभवों के कारण वह इस पद के लिए हमारी नजर में बेहतर विकल्प बने.”

इंफोसिस की ओर से जारी बयान के मुताबिक, कंपनी के निदेशक मंडल में बाहरी निदेशक के.वी. कामथ 11 अक्टूबर से निदेशक मंडल के गैर-कार्यकारी अध्यक्ष होंगे. बयान में यह भी कहा गया है कि मूर्ति 11 अक्टूबर से कंपनी के अवकाशप्राप्त अध्यक्ष होंगे. कंपनी में उनके योगदान को देखते हुए यह निर्णय लिया गया है.

बयान के मुताबिक, निदेशक मंडल के निदेशक श्रीनाथ बातनी भी 31 जुलाई को अपने पद से इस्तीफा देंगे. कार्यकारी अध्यक्ष का दफ्तर 14 जून को समाप्त कर दिया जाएगा और एक जून, 2013 को पिता नारायण मूर्ति के सहायक कार्यकारी के रूप में कंपनी की जिम्मेदारी संभालने वाले मूर्ति के बेटे रोहन मूर्ति 14 जून को कंपनी छोड़ देंगे.

इंफोसिस ने अपने कई कर्मचारियों को कार्यकारी उपाध्यक्ष के रूप में पदोन्नत किया.

Tags: , ,