वर्टीब्रोप्लास्टी दिलाए रीढ़ की हड्डी टूटने पर आराम

Monday, July 15, 2013

A A

वर्टीब्रोप्लास्टी पद्धति

नई दिल्ली: रीढ़ के हड्डियों में टूटन और उससे हो रहे पीठ दर्द से ग्रसित मरीजों को राहत देने वाली वर्टीब्रोप्लास्टी देश में बेहद मशहूर होती जा रही है. देश में दिल्ली, चेन्नई और बेंगालुरु ऐसे मुख्य केंद्रों के रूप में उभरें हैं जहां इस पद्धति से कम कीमत में अच्छा इलाज किया जाता है. यही वजह है कि न सिर्फ देशभर के बल्कि विदेशों से भी मरीज़ इसका फाय़दा उठाने भारत आ रहे हैं.

वर्टीब्रोप्लास्टी वह पद्धति है जिसमें रीढ़ की हड्डी में टूटन में तकलीफ से बेहाल मरीज़ों के राहत देने के लिए इंजेक्शन के माध्यम से टूटे हुए जगह पर हड्डियों का सीमेंट भर दिया जाता है. यह सीमेंट टूटन को भरता है और मरीज़ को असहनीय पीठ दर्द से शीघ्र ही आराम दिलाता है.

यह पद्धति ज्यादातर उन मरीजों के लिए इस्तेमाल की जाती है जिनकी रीढ़ की हड्डियों में ऑस्टियोपोरोसिस की वजह से टूटन आई हो. पचास वर्ष से ऊपर के करीब 26 प्रतिशत तथा साठ साल से ऊपर के करीब 64 प्रतिशत लोगों में यह समस्या ज्यादा देखने को मिलती है.

इस पद्धति का एक और फायदा इसका कम समय और बिना ज्यादा चीरफाड़ के हो जाना है. कम लागत और जल्दी आराम दिलाने वाली इस पद्धति में 24 घंटे के अंदर 90 प्रतिशत मरीजों को राहत मिल लगती है.

Tags: , ,