उत्तराखंड बाढ़ में शासन-प्रशासन फेल: अश्विनी चौबे

Thursday, June 20, 2013

A A

UP Flood

देहरादून: बिहार के पूर्व स्वास्थ्य मंत्री अश्विनी चौबै ने उत्तराखंड में आई प्रलयकारी बाढ़ से निपटने में राज्य की बहुगुणा सरकार की अक्षम बताया है. बाढ़ से सबसे ज्यादा प्रभावित केदारनाथ से लौटे चौबे ने वहां की भयावह स्थिति के बारे में बताते हुए कहा कि इतनी भीषण आपदा के बावजूद प्रशासन या सरकार द्वारा कुछ भी नहीं किया जा रहा है. उन्होंने कहा कि बचने वालों में से अधिकांश लोग खुद अपने दम पर लौट पाए हैं.

चौबे ने कहा कि राज्य सरकार मरने वालों के असली आँकड़ों को छुपा रही है. उनके अनुसार केवल केदारनाथ धाम में ही 15-20 हज़ार लोग मारे गए हैं. उन्होंने कहा कि केदारनाथ मंदिर में भारी संख्या में लाशें बह कर आ रही थीं और उन्होंने खुद दो दिन लाशों के उपर बैठ कर बिताई हैं. चौबे ने बताया कि उनके परिवार के पाँच लोग भी लापता हो गए हैं.

चौबे के अनुसार इतनी भयंकर स्थिति के बावजूद वहां प्रशासन द्वारा दवा, कपड़ों और खाने का कोई इंतजाम नहीं किया गया है. उत्तराखंड सरकार पर भयंकर आरोप लगाते हुए चौबे बोले कि राज्य सरकार को पहले से ही पता था कि मौसम खराब होने वाला है लेकिन इसकी सूचना वहां मौजूद लोगों तक नहीं पहुँचाई गई न ही बाढ़ आने के बाद निकाला गया.

चौबे ने कहा कि ऐसी सरकार किस काम की जो लोगों को मौत के मुँह में ढकेल दे. गौरतलब है कि उत्तराखंड सरकार दावा मरने वालों की आधिकारिक संख्या 150 तक बता रही है लेकिन स्थानीय सूत्रों का मानना है कि इस त्रासदी में 60 हजार से ज्यादा लोग प्रभावित हुए हैं.

Tags: , , , , ,