अमरीका में 12 लाख को छुट्टी

Tuesday, October 1, 2013

A A

अमरीका प्रतिबंध

वाशिंगटन | एजेंसी: अमरीका में 12 लाख कर्मचारियों को छुट्टी पर भेजा जा रहा है. अमरीका में अगले साल के बजट को मंजूरी नहीं मिलने के कारण सरकार यह क़दम उठा रही है. इस योजना के तहत कई दफ्तरों को बंद कर दिया गया है और कर्मचारियों को अगले आदेश तक बिना वेतन छुट्टी पर भेज दिया गया है. अमरीका में इस हालात के कारण स्थिति विस्फोटक हो सकती है.

बीबीसी के अनुसार अमरीकी राष्ट्रपति कार्यालय ने संघीय ऐजेंसियों को कामबंदी के आदेश भेजने शुरू कर दिए हैं. अमरीका में एक अक्तूबर से अगर कामबंदी लागू होने से राष्ट्रीय पार्क और वॉशिंगटन स्मिथसोनियन म्यूज़ियम बंद हो जाएगा, वृद्धों को मिलने वाले लाभार्थ चेक में देरी होगी और वीज़ा व पासपोर्ट अर्ज़ियां धरी रहेंगी. हालांकि हवाई यातायात नियंत्रण और खाद्य पदार्थ निरीक्षण जैसी चीज़ों को ज़रूरी मानकर जारी रखा जाएगा.

रक्षा विभाग ने अपने कर्मचारियों को कहा है कि वर्दीधारी तो काम करते रहेंगे लेकिन सिविल कर्मचारियों को घर पर बैठना होगा.

अमेरिका के व्हाइट हाउस ऑफिस ऑफ मैनेजमेंट एंड बजट ने सोमवार देर रात संघीय एजेंसियों को सरकारी कामबंदी शुरू करने के आदेश दिए. इस आदेश की वजह सीनेट में अगले साल के बजट को मंजूरी न मिल पाना है. समाचार एजेंसी सिन्हुआ के मुताबिक, व्हाइट हाउस ऑफिस ऑफ मैनेजमेंट एंड बजट की निदेशक सिल्विया बरवेल ने एक वक्तव्य जारी कर कहा, “हमें इसका स्पष्ट संकेत नहीं मिला है कि अगले दिन (एक अक्टूबर) की समाप्ति से पहले वर्तमान प्रस्ताव पर राष्ट्रपति के हस्ताक्षर के लिए कांग्रेस समय पर कार्यवाही करेगी. इसलिए एजेंसियों को निवेश की अनुपस्थिति में आदेशात्मक कामबंदी की व्यवस्था शुरू करनी चाहिए.”

उन्होंने कहा, “हम कांग्रेस से लघु-अवधि के समाधान के लिए वर्तमान प्रस्ताव को शीघ्र पारित करने की अपील करते हैं जिस दौरान वित्त वर्ष की शेष अवधि के लिए बजट पारित करने में पर्याप्त समय मिल जाएगा. हम प्रमुख सार्वजनिक सेवाओं और कार्यक्रमों को दोबारा शुरू करने की अपील करते हैं जो कि निवेश की कमी से प्रभावित होगी.”

पिछले 17 सालों में अमेरिका में सरकारी कामबंदी पहली बार हो रही है. इससे पहले यह स्थिति 1996 में उत्पन्न हुई थी, जब तत्कालीन राष्ट्रपति बिल क्लिंटन और रिपब्लिकन के बहुमत वाले कांग्रेस के बीच बजट को लेकर गतिरोध उत्पन्न हो गया था.

Tags: , , ,