यूपीएससी विवाद संसद में गर्माया

Friday, August 1, 2014

A A

संसद भवन

नई दिल्ली | समाचार डेस्क: सड़कों के बाद संसद में यूपीएससी परीक्षा विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है. यूपीएससी पाठ्यक्रम पर उठे विवाद को लेकर राज्यसभा में शुक्रवार को भारी हंगामा हुआ. वहीं केंद्रीय गृह मंत्री ने सदन को यह भरोसा दिलाया कि सरकार इसका उचित समाधान निकालेगी. केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने राज्यसभा में कहा, “सरकार यूपीएससी परीक्षा के भाषा से संबंधित मुद्दे का उचित समाधान जल्द ढूंढ निकालेगी.”

उन्होंने कहा, “सरकार ने छात्रों के प्रदर्शन को गंभीरता से लिया है. हमें इस मामले से संबंधित समिति की रिपोर्ट प्राप्त हुई है और हम इसका अध्ययन कर रहे हैं.”

गौरतलब है कि अरविंद वर्मा की अध्यक्षता वाली समिति ने गुरुवार को केंद्र सरकार को अपनी रिपोर्ट सौंपी. इस समिति का गठन यूपीएससी परीक्षा के पाठ्यक्रम में बदलाव के विभिन्न पहलुओं को देखने के लिए किया गया था.

केंद्रीय मंत्री का यह बयान इस मुद्दे पर विभिन्न सांसदों की ओर से चिंता जताए जाने और इस पर तुरंत कोई कदम उठाने की मांग करने के बाद आया.

राजनाथ के जवाब से असंतुष्ट कांग्रेस, समाजवादी पार्टी और वाम मोर्चे ने सदन से बर्हिगमन कर दिया.

इससे पहले सदन को तीन बार स्थगन का सामना करना पड़ा था.

सदन की कार्यवाही शुक्रवार को शुरू होने पर विपक्ष के सदस्य सरकार से मुद्दे पर जवाब की मांग करने लगे.

जनता दल, यूनाइटेड के शरद यादव ने कहा कि सरकार ने आश्वासन दिया था कि वह सात दिनों के अंदर इस मुद्दे का समाधान करेगी, जिससे सात लाख अभ्यर्थियों का भविष्य जुड़ा हुआ है, लेकिन अब तक कुछ नहीं हुआ है. शरद ने कहा कि उन्होंने ‘विशेषधिकार नोटिस’ दिया है.

कांग्रेस के प्रमोद तिवारी ने कहा कि यूपीएससी अभ्यर्थी प्रदर्शन कर रहे हैं, लेकिन इस मुद्दे को सुलझाने की जगह उन पर लाठियां बरसाई जा रही हैं.

केंद्रीय संसदीय कार्य मंत्री वेंकैया नायडू ने सदन के सदस्यों से प्रश्नकाल के दौरान सहयोग करने और मुद्दे को प्रश्नकाल के बाद उठाने का अनुरोध किया, लेकिन सदन को दोपहर से पहले दो बार स्थगन का सामना करना पड़ा.

ऊपरी सदन की कार्यवाही दोबारा शुरू होने पर भी हंगामे के कारण इसे 15 मिनट के लिए फिर स्थगित करना पड़ा.

यूपीएससी विवाद
वर्ष 2011 में यूपीएससी की परीक्षा में सीसैट की परीक्षा को शामिल किया गया था. इसमें अंग्रेजी में प्रश्न पूछे जाते हैं. इसका हिन्दी अनुवाद भी ऐसा रहता है कि जो अर्थ का अनर्थ कर दे. इसी कारण से छात्र, यूपीएससी में सीसैट को समाप्त किये जाने की मांग कर रहें हैं. गौरतलब है की सीसैट के कारण यूपीएससी परीक्षा में हिन्दी के परीक्षार्थियों की सफलते घट रही है. छात्रों का कहना है कि सीसैट को हटा दिया जाये.

Tags: , , , , , ,