कई क्षेत्रों में बढ़ी एफडीआई की सीमा

Wednesday, July 17, 2013

A A

एफडीआई

नई दिल्ली: खस्ताहाल अर्थव्यवस्था को सहारा देने और रुपए की साख बचाने के लिए सरकार ने मंगलवार को प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (एफडीआई) को और उदार बनाते हुए बीमा, खुदरा, दूरसंचार सहित अनेक क्षेत्रों में एफडीआई की सीमा में वृद्धि करने का फैसला किया है. मंगलवार को प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की अध्यक्षता में मंत्रिमंडल के वरिष्ठ सदस्यों की बैठक के दौरान यह निर्णय लिया गया.

बैठक के बाद वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री आनंद शर्मा ने पत्रकारों को बताया कि बीमा उद्योग में वर्तमान 26 फीसदी एफडीआई की सीमा को बढ़ाकर 49 फीसदी किए जाने का फैसला किया गया है. साथ ही टेलीकॉम सेक्टर में वर्तमान 74 फीसदी एफडीआई को सौ फीसदी किया गया है. उन्होंने बताया कि मल्टि-ब्रैंड रीटेल में एफडीआई बढ़ाने पर भी विचार किया जा रहा है.

गैस रिफाइनरियों, जिंस एक्सचेंज, बिजली व्यापार और शेयर बाजार जैसे सेक्टरों में एफडीआई को विदेशी निवेश संवर्धन बोर्ड (एफआईपीबी) के जरिए अनुमति दी जाएगी.

इसके अलावा सरकार ने रक्षा क्षेत्र में विदेशी निवेश की सीमा को 26 फीसदी रखा गया है लेकिन कहा गया है कि रक्षा क्षेत्र के लिए कैबिनेट की कमिटी उच्च तकनीक वाले रक्षा उत्पादों के निर्माण के लिए विदेशी निवेश की सीमा पर निर्णय लेगी.

Tags: , , , , , , , , , ,