आतंकवाद के खिलाफ एक हो: मोदी

Friday, December 25, 2015

A A

मोदी-पुतिन वार्ता

मास्को | समाचार डेस्क: प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि आतंकवाद के खिलाफ पूरी दुनिया को एक होना होगा. भारत और रूस ने गुरुवार को विभिन्न क्षेत्रों में 16 समझौते किए.

मोदी ने भारत और रूस के बीच वार्षिक शिखर-वार्ता के बाद रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के साथ संयुक्त संवाददाता सम्मेलन में कहा, “आतंकवादी संगठनों और आतंकवाद की मार झेल रहे देशों में भेदभाव किए बगैर पूरी दुनिया को आतंकवाद के खिलाफ एक होना पड़ेगा.”

मोदी ने कहा, “हमारे विचार एकसमान हैं, कि पूरी दुनिया को आतंकवाद के खिलाफ एकजुट होना पड़ेगा.”

साथ ही मोदी ने पश्चिमी एशिया में जल्द ही किसी राजनीतिक समझौते पर पहुंचने के लिए बातचीत की जरूरत पर भी बल दिया.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के बीच भारत-रूस 16वें वार्षिक शिखर सम्मेलन की शुरुआत पर गुरुवार को क्रेमलिन में मोदी ने पुतिन से कहा कि भारत रूस को एक भरोसेमंद मित्र मानता है.

समाचार एजेंसी तास के मुताबिक, वार्ता की शुरुआत में औपचारिक अभिवादन के बाद मोदी ने कहा कि भारत और रूस अब अंतर्राष्ट्रीय और राजनीतिक मोर्चे पर अधिक सक्रियता से सहयोग कर रहे हैं.

मोदी ने कहा कि रूस भरोसेमंद मित्र है, जिसने हमेशा कठिन वक्त में भारत की मदद की है. उन्होंने कहा कि भारत रूस के साथ रणनीतिक साझेदारी जारी रखना चाहता है.

पुतिन ने कहा, “हमें यह बताते हुए खुशी हो रही है कि हम भारत और रूस के बीच विशेष रणनीतिक संबंध का लगातार विकास कर रहे हैं.”

पुतिन ने कहा कि संबंध अंतर्राष्ट्रीय, राजनीति, आर्थिक और मानवीय हर क्षेत्र में विकास कर रहा है.

मोदी ने सिनाई में एक रूसी यात्री विमान पर आतंकी हमले और सीरिया के ऊपर उसके एक युद्धक विमान को निशाना बनाए जाने पर सहानुभूति जताई और कहा कि इस दुख में भारत भी रूस के साथ है.

वार्ता से पहले मोदी ने अलेक्जेंड्रोस्की उद्यान में एक अज्ञात सैनिक के मकबरे पर चादर चढ़ाई.

गुरुवार की सुबह मोदी रूस के राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन केंद्र भी गए और उसकी कार्यप्रणाली की जानकारी ली.

दोनों नेता क्रेमलिन में दोनों देशों की प्रमुख कंपनियों के मुख्य कार्यकारी अधिकारियों से भी मिलेंगे.

मोदी बुधवार को मास्को पहुंचे. राष्ट्रपति पुतिन ने बुधवार की रात उन्हें भोज दी थी.

Tags: , , , ,