कुडनकुलम से 165 मेगावॉट उत्पादन

Sunday, October 27, 2013

A A

कुडनकुलम संयंत्र

चेन्नई | एजेंसी: कुडनकुलम परमाणु बिजली परियोजना से शनिवार को औसत 165 मेगावॉट बिजली का उत्पादन हुआ. इस बाबत जानकारी पावर सिस्टम ऑपरेशन कारपोरेशन लिमिटेड से मिली. दक्षिणी क्षेत्र के लिए बिजली आपूर्ति की स्थिति पर दी गई रिपोर्ट में कंपनी ने बताया कि केएनपीपी की प्रथम इकाई ने शनिवार को 165 मेगावॉट बिजली का उत्पादन किया.

पावर सिस्टम ऑपरेशन कारपोरेशन लिमिटेड क्षेत्रीय और राष्ट्रीय स्तर पर विद्युत ग्रिड का संचालन करती है. यह पॉवर ग्रिड कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड की सहायक कंपनी है.

1,000 मेगावॉट क्षमता वाली केएनपीपी की पहली इकाई को 22 अक्टूबर को सुबह 2.45 बजे ग्रिड से जोड़ा गया था, तब इकाई से 75 मेगावॉट बिजली का उत्पादन हो रहा था, जिसे बढ़ाकर 160 मेगावॉट किया गया था.

लगभग दो घंटों बाद इकाई बंद हो गई, हालांकि केएनपीपी के अधिकारियों के मुताबिक उन्होंने इसे बंद किया था.

शुक्रवार को रात 9.43 बजे इसे फिर से ग्रिड से जोड़ा गया और तब इससे लगभग 160 मेगावॉट बिजली का उत्पादन हो रहा था.

अधिकारियों ने बताया कि अभी जो बिजली पैदा हो रही है उसकी आपूर्ति तमिलनाडु में की जाएगी.

भारत का परमाणु ऊर्जा संयत्र ऑपरेटर- भारतीय परमाणु विद्युत निगम लिमिटेड तिरूनेवली जिले के कुडकुलम में 1,000 मेगावॉट के दो रूसी संयत्र स्थापित कर रहा है. परियोजना की कुल लागत 17,000 करोड़ रुपयों से ज्यादा है.

Tags: