भारत का व्यापार घाटा घटा

Tuesday, September 10, 2013

A A

आनंद शर्मा-पूर्व मंत्री

नई दिल्ली | एजेंसी: निर्यात बढ़ने और आयात घटने के कारण अगस्त महीने में देश का व्यापार घाटा घटकर 10.9 अरब डॉलर हो गया, जो जुलाई में 12.27 अरब डॉलर था. देश का निर्यात अगस्त महीने में 12.97 फीसदी बढ़कर 26.13 अरब डॉलर रहा, जो लगातार दूसरे महीने की दहाई अंकों की वृद्धि है. जुलाई महीने में निर्यात 11.64 फीसदी बढ़कर 25.83 अरब डॉलर रहा था.

आयात आलोच्य महीने में 0.68 फीसदी गिरावट के साथ 37.05 अरब डॉलर रहा, जिसके कारण व्यापार घाटा 10.92 अरब डॉलर रहा.

केंद्रीय वाणिज्य और उद्योग मंत्री आनंद शर्मा ने संवाददाता सम्मेलन में कहा कि मुख्यत: सोने के आयात में हो रही कमी के कारण व्यापार घाटा कम रहा. शर्मा ने कहा, “सोने का आयात घटा है. यह लगातार घट रहा है.” उन्होंने कहा कि सरकार व्यापार घाटा को और कम करने की कोशिश कर रही है.

सोने का आयात अगस्त में घटकर 0.65 अरब डॉलर रहा, जो जुलाई में 2.2 अरब डॉलर का था. मंत्री ने कहा कि आने वाले महीनों में निर्यात में स्वस्थ्य विकास दर्ज किया जाना चाहिए.

अप्रैल-अगस्त की अवधि में निर्यात 3.89 फीसदी अधिक 124.42 अरब डॉलर हुआ, जो एक साल पहले समान अवधि में 119.77 अरब डॉलर का हुआ था.

मौजूदा कारोबारी साल के प्रथम पांच महीनों में आयात 1.72 फीसदी अधिक 197.79 अरब डॉलर का रहा. व्यापार घाटा इसी अवधि में मामूली गिरावट के साथ 73.36 अरब डॉलर रहा, जो एक साल पहले समान अवधि में 74.67 अरब डॉलर था.

तेल आयात अगस्त में 17.88 फीसदी अधिक 15.09 अरब डॉलर मूल्य का हुआ. अप्रैल-अगस्त महीने के लिए यह 5.6 फीसदी अधिक 69.67 अरब डॉलर का हुआ, जो एक साल पहले समान अवधि में 65.98 अरब डॉलर था.

गैर तेल आयात अगस्त में 10.4 फीसदी कम 21.95 अरब डॉलर का रहा.

रुपये के अवमूल्यन के कारण देश का निर्यात बढ़ा है, जबकि आयात अधिक महंगा हो गया है.

रुपये में इस साल 20 फीसदी तक गिरावट आई है. पिछले महीने यह डॉलर के मुकाबले 68.85 के ऐतिहासिक निचले स्तर पर पहुंच गया था. रुपये में हालांकि मजबूती आई है और यह दो सप्ताह के ऊपरी स्तर 64.17 पर पहुंच गया है.

व्यापार घाटा कम होने से चालू खाता घाटा भी कम करने में मदद मिलेगी, जिसके कारण हाल में रुपये का अवमूल्यन हुआ है.

Tags: , ,