छत्तीसगढ़ में रोज 3 रेप

Friday, June 14, 2013

A A

बलात्कार

रायपुर | संवाददाता: छत्तीसगढ़ में हर दिन तीन महिलायें रेप का शिकार होती हैं. छत्तीसगढ़ में महिलाओं के साथ रेप की घटनाओं की अपराध दर 8.41 प्रतिशत है. इस आधार पर छत्तीसगढ़ सातवें नेबर पर है. रेप की शर्मशार करने वाली घटनाओं में दुर्ग शहर पूरे देश में रेप के क्राइम रेट के मामले में दूसरे नंबर पर है. वहीं छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर पांचवें नंबर पर है.

राज्य सरकार द्वारा उपलब्ध कराये गये आंकड़ों के आधार पर तैयार किये गये नेशनल क्राइम रिसर्च ब्यूरो की 2012 की रिपोर्ट से यह बात सामने आई है. इस रिपोर्ट के अनुसार पड़ोसी राज्य मध्यप्रदेश में पूरे देश में सर्वाधिक 3425 रेप के मामले सामने आये हैं.

ताजा आंकड़े बताते हैं कि छत्तीसगढ़ में पिछले साल यानी 2012 में कुल 1034 महिलायें रेप की शिकार हुई हैं. छत्तीसगढ़ में 2011 में 1053 महिलाओं

के साथ रेप के मामले सामने आये थे. ताजा रिपोर्ट के अनुसार 2012 में कम से कम 350 महिलाओं के अपहरण के मामले भी सामने आये हैं. घरेलू हिंसा में पति या रिश्तेदारों द्वारा प्रताड़ना के 980 छत्तीसगढ़ में दर्ज किये गये.

आंकड़ों की बात करें तो रेप की शर्मशार करने वाली घटनाओं में दुर्ग शहर पूरे देश में रेप के क्राइम रेट के मामले में दूसरे नंबर पर है. यहां यह दर 13.50 है तो वहीं राजधानी रायपुर देश में पांचवें नंबर पर है, जहां यह अपराध दर 11.76 है.

पड़ोसी राज्य मध्यप्रदेश का हाल और भी बुरा है. भाजपा सरकार में लड़कियों के मामा कहलाने वाले शिवराज सिंह के राज में महिलायें देश भर में सर्वाधिक असुरक्षित हैं. देश में सबसे अधिक रेप के मामले मध्यप्रदेश में ही सामने आये हैं. यहां पिछले साल रेप के 3425 मामले सामने आये.

रेप के अपराध दर की बात की जाये तो मध्यप्रदेश का जबलपुर 14.39 के साथ पूरे देश में सबसे आगे था, वहीं भोपाल में यह आंकड़ा 12.70, इंदौर 12.04, ग्वालियर 11.69 था.

शीलभंग की कोशिश में भी छत्तीसगढ़ देश में सातवें नंबर पर है.जहां पिछले साल कुल 1601 मामले सामने आये है. अपराध की दर का हिसाब देखें तो शीलभंग की कोशिश करने वाले शहरों में दुर्ग पांचवें नंबर पर है.

Tags: , , , ,