बड़ा सोचने से बड़ा बन पायेंगे: अरनॉल्ड

Saturday, November 22, 2014

A A

अरनॉल्ड श्वार्जनेगर-हॉलीवुड

नई दिल्ली | मनोरंजन डेस्क: हॉलीवुड अभिनेता अरनॉल्ड का कहना है कि बड़ा बनने के लिये बड़ी सोच जरूरी है. इसके लिये कड़ी मेहनत करनी पड़ती है तथा शार्टकट से सफलता नहीं पाई जा सकती है. ‘कमांडो’ तथा ‘टर्मिनेटर’ फिल्मों से दुनिया भर में नाम कमाने वाले अरनॉल्ड ने पेहनत के बल पर ही हालीवुड में सफलता के झंडे गाड़े. हॉलीवुड अभिनेता अरनॉल्ड श्वार्जनेगर का कहना है कि कामयाबी को पाना उनके लिए आसान नहीं रहा. उन्होंने कहा कि यह उनका दृष्टिकोण और विचार था, जिसने ऊंचाई पर पहुंचने में उनकी मदद की, न कि वह आकस्मिक ही सफलता की ऊंचाई पर पहुंच गए.

श्वार्जनेगर ने यहां हिंदुस्तान टाइम्स लीडरशिप समिट में शनिवार को कहा, “मैं हमेशा से अग्रणी अभिनेता बनना चाहता था. मेरा विश्वास था कि यदि आप बड़ा सोचते हैं, तो बड़ा पाते हैं. आपके पास स्पष्ट दृष्टि होनी चाहिए और फिर आप उसके पीछे लग जाइए. मैं कामयाबी पाना चाहता था, मेरे सपने बड़े थे, उसके लिए मैंने मेहनत की, इसलिए आज मैं यहां हूं.”

श्वार्जनेगर ने बॉडी बिल्डिंग से शुरुआत की और बॉडी बिल्डिंग चैम्पियन बनने के बाद एक्शन हीरो के रूप में फिल्मों में शुरुआत की. उन्होंने ‘कोनन द बारबेरियन’, ‘कमांडो’ और ‘टर्मिनेटर’ जैसी उम्दा एक्शन फिल्मों में काम किया.

कैलिफोर्निया के गर्वनर रह चुके 67 वर्षीय श्वार्जनेगर ने कहा कि सफलता का कोई शार्टकट नहीं होता.

उन्होंने कहा, “आपको कड़ी मेहनत करनी पड़ती है, सफलता का कोई शार्टकट नहीं होता. आपको अपने लक्ष्य पर ध्यान केंद्रित करके रखना पड़ता है. हर कोई कभी न कभी असफलताओं से होकर गुजरता है. मैं भी कई बार असफल हुआ हूं. चाहे वह असफल फिल्में हो, बॉडी बिल्डिंग की प्रतिस्पर्धा हार जाना हो या फिर निजी जीवन. लेकिन असफलताओं के बावजूद आप फिर उठ खड़े होते हैं और दोगुने जोश से फिर मेहनत करते हैं, तो विजेता आप बनते हैं.”

Tags: , , , ,