तेजपाल पर पुलिस का शिकंजा कसा

Sunday, November 24, 2013

A A

तरुण तेजपाल-तहलका

नई दिल्ली | समाचार डेस्क: यौन उत्पीड़न के आरोपी तहलका के तरुण तेजपाल पर पुलिस का शिकंजा कसता ही जा रहा है. मामले की जांच कर रही गोवा पुलिस ने पीड़िता के तीन मित्रो का बयान दर्ज कर लिया है. संभावना है कि गोवा पुलिस रविवार को ही पीड़िता का बयान ले तथा तरुण तेजपाल का बयान भी लेने की बात चल रही है. ऐसा भी हो सकता है कि तरुण तेजपाल को गिरफ्तार कर लिया जाये. शनिवार को पीड़िता ने आरोप लगाया था कि तेजपाल के रिश्तेदार उसके पिता से मिले थे तथा केस वापस लेने की मांग कर रहे थे.

शनिवार को कोलकाता में लोकसभा अध्यक्ष मीरा कुमार ने कहा कि तरुण तेजपाल मामले में कानून को अपने तरीके से काम करना चाहिए और जल्द से जल्द जो उचित हो वह करना चाहिए. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि विशाखा गाइडलाइंस के अनुसार, कार्यस्थल पर महिलाओं की सुरक्षा संबंधित चिंताओं को दूर करने के लिए समितियां होनी चाहिए.

लोकसभा अध्यक्ष ने वाणिज्य एवं उद्योग के एमएमसी चैंबर द्वारा आयोजित बैठक के दौरान संवाददाताओं से कहा, “मुझे लगता है कि कानून को अपने तरीके से काम करना चाहिए और कानून के तहत जो भी उचित हो जल्द से जल्द करना चाहिए.”

उन्होंने कहा, “ऐसा नहीं होना चाहिए. हमारी परंपरा और संस्कृति इसकी इजाजत नहीं देती है.”

तहलका की प्रबंध संपादक शोमा चौधरी ने शनिवार को कहा कि उन्होंने गोवा पुलिस के सवाल का जवाब दिया है तथा जांच में सहयोग का भी आश्वासन दिया है. शोमा ने जांच में सहयोग न दिए जाने वाली मीडिया की खबरों का खंडन करते हुए कहा, “मैंने गोवा पुलिस द्वारा मांगी गई सारी जानकारी दी है और मैंने मदद की भी पेशकश की है.”

उन्होंने कहा कि मीडिया में अब तक इस बात को गलत प्रचारित किया गया है कि वह गोवा पुलिस की टीम को जांच में सहयोग नहीं दे रही हैं.

शोमा ने कहा, “मेरे द्वारा उन्हें दिए गए सबूत के तथ्य और घटनाक्रम को देखिए. मैंने अपनी सहयोगी पत्रकार और तरुण तेजपाल से बात की है.”

गौर तलब है कि तहलका के प्रधान संपादक तरुण तेजपाल के खिलाफ दर्ज यौन उत्पीड़न मामले की जांच में पुलिस को झटका लगा है. पुलिस ने शनिवार को बताया कि पत्रिका की महिला कर्मचारी ने जिस होटल में तेजपाल के खिलाफ यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया गया था, उसके लिफ्ट में सीसीटीवी कैमरा नहीं लगा हुआ था. पुलिस उप महानिरीक्षक ओ.पी.मिश्रा ने पुलिस मुख्यालय में प्रेस वार्ता के दौरान संवाददाताओं को बताया, “लिफ्ट में सीसीटीवी कैमरा नहीं लगा हुआ है.”

पीड़िता ने तहलका की प्रबंध संपादक शोमा चौधरी से की गई शिकायत में तेजपाल पर पांच सितारा रिजार्ट ग्रांड हयात के क्लब हाउस के लिफ्ट में दो बार यौन उत्पीड़न किए जाने का आरोप लगाया था. यह घटना थिंक फेस्ट सम्मेलन के दौरान सात-आठ नवंबर को हुई थी.

तेजपाल ने शुक्रवार को बयान जारी कर जांचकर्ताओं से सीसीटीवी के दृश्य की जांच करने और इसे जारी करने का अनुरोध किया था ताकि घटना की वास्तविकता सामने आ सके. बहरहाल इस बात की पूरी गुंजाइश दिख रही है कि तरुण तेजपाल यौन उत्पीड़न मामले में पूरी तरह से फंस चुके हैं तथा उनकी कभी भी गिरफ्तारी हो सकती है.

Tags: , , ,