स्वंय साफ होने वाला ई-शौचालय

Tuesday, September 30, 2014

A A

ई-शौचालय

तिरुवनंतपुरम | एजेंसी: अब अपने आप साफ हो जाने वाले ई-शौचालय हमारे देश में उपलब्ध हैं. देश में ई-शौचालय के सबसे पहले निर्माता एरम साइंटिफिक ने मंगलवार को स्कूलों के लिए विश्व का सबसे सस्ता मानवरहित ई-शौचालय पेश किया, जिसमें अंतर्निहित सौर पैनल की मदद से मेटालिक प्लेटफॉर्म की साफ-सफाई अपने आप होती है. एरम समूह के अध्यक्ष सिद्दीक अहमद ने कहा, “केंद्र सरकार द्वारा घोषित ‘स्वच्छ भारत अभियान’ के मद्देनजर यह राष्ट्र के लिए हमारा योगदान है. यह ‘मेक इन इंडिया’ के लिहाज से भी पूरी तरह उपयुक्त है.”

स्टेनलेस स्टील निर्मित आधार और माइल्ड स्टील से निर्मित 25 वर्ग फुट की जगह घेरने वाले इस ई-शौचालय का बाजार मूल्य 99,999 रुपये है, जिसमें बीमा शुल्क और एक साल की वारंटी भी शामिल है.

इसमें अंतर्निहित सौर पैनल भी है, जो बिजली की आवश्यक्ता पूरी करता है, जबकि धातु का बना प्लेटफार्म मानविकी बल की जरूरत को खत्म करता है.

इसमें स्वचालित फ्लश भी लगा है, जो शौचालय के इस्तेमाल से पहले और बाद में खुद ब खुद संचालित होता है. इसके साथ ही स्वचालित फ्लोर वाश और सेंसर नियंत्रित जल उपभोग प्रणाली के कारण ई-शौचालय की साफ-सफाई के लिए व्यक्ति की जरूरत नहीं पड़ती.

एरम साइंटिफिक ने 11 राज्यों में 600 ई-शौचालय स्थापित किए हैं, जिनकी लागत दो लाख रुपये और इसके अधिक भी है. समूह के मुख्य कार्यकारी अधिकारी के. अनवर सादत ने बताया कि स्कूलों के लिए डिजाइन किए गए ई-शौचालयों की कीमत कम है, क्योंकि इनमें जटिल उपकरण नहीं लगाए गए हैं और स्कूल के उपयोग के लिहाज से बनाया गया है.

Tags: , , , , ,