स्विस पुलिस ने hsbc bank पर छापा मारा

Wednesday, February 18, 2015

A A

एचएसबीसी बैंक

जेनेवा | एजेंसी: स्विट्जरलैंड की पुलिस ने जेनेवा में बुधवार को एचएसबीसी बैंक के एक कार्यालय पर छापा मारा. अभियोजन अधिकारी ने यहां कहा कि धन की हेराफेरी के आरोपों से संबंधित जांच के तहत यह छापा मारा गया है. अभियोजन कार्यालय द्वारा जारी बयान में कहा गया है कि एटॉर्नी जनरल आलिवियर जरनॉट और अभियोजनकर्ता यवेस बटरेसा के नेतृत्व में बैंक परिसर की तलाशी की गई.

बयान में कहा गया है कि तलाशी के दायरे में उन लोगों को भी शामिल किया जा सकता है, जिन पर धन की हेराफेरी में शामिल रहने का संदेह होगा. कथित तौर पर अधिकारी बैंक से बड़ी संख्या में दस्तावेज जब्त कर ले गए हैं.

बैंक के मुख्य कार्यकारी अधिकारी फ्रांको बोरा ने गत सप्ताह कहा था कि उन्होंने उन ग्राहकों का खाता बंद कर दिया है, जो उनके मानक पर खरे नहीं उतरते थे.

नियामकों की निगाह पर यूरोप का सबसे बड़ा बैंक तब चढ़ा, जब यह खुलासा हुआ कि स्विस निजी बैंक ने किसी तरह से धनी लोगों को कर चोरी करने में मदद की है.

एक सप्ताह से कुछ अधिक समय पहले अमरीका के खोजी पत्रकारों के एक समूह से जुड़े कुछ समाचार पत्रों ने इससे संबंधित विवरण प्रकाशित किया था. भारत में इंडियन एक्सप्रेस इस समूह का हिस्सा था.

भारत में इंडियन एक्सप्रेस ने 1000 से अधिक नाम प्रकाशित किए थे, जिसमें नेता, कारोबारी और निर्यातक भी शामिल थे. विभिन्न देशों में कर चोरी करने वाले ऐसे लोगों की संख्या एक लाख से अधिक थी.

एचएसबीसी से संबंधित मामला पहली बार 2008 में खुला था. बैंक का एक पूर्व कंप्यूटर तकनीशियन हर्व फल्सियानी ने कुछ दस्तावेज चुरा कर इन गतिविधियों को जगजाहिर किया था. उन्होंने गोपनीय आंकड़े फ्रांस सरकार को सौंप दिए थे. भारत को भी 600 से अधिक ग्राहकों की सूचनाएं मिली थी, जिनके बारे में सर्वोच्च न्यायालय द्वारा गठित स्पेशल इनवेस्टिगेशन टीम जांच कर रही है.

एचएसबीसी का कहना है कि तब से उसके संचालन में काफी बदलाव किया गया है. 2000 में एचएसबी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी बने स्टुअर्ट गुलिवर ने रविवार को सार्वजनिक तौर पर खेद व्यक्त करते हुए कहा था कि बैंक अब ऐसे ग्राहकों के साथ कारोबार नहीं करना चाहता है, जो कर चुराना चाहते हैं.

बैंक पर अमेरिका, फ्रांस, बेल्जियम और अर्जेटाइना में आपराधिक प्रक्रिया चल रही है. लेकिन ब्रिटेन में बैंक पर आपराधिक प्रक्रिया नहीं चल रही है, जहां इस एचएसबीसी का मुख्यालय है.

Tags: ,