बिहार में सूटबूट सरकार नहीं बनेगी

Thursday, October 29, 2015

A A

राहुल गांधी-कांग्रेस उपाध्यक्ष

पटना | समाचार डेस्क: राहुल गांधी ने कहा बिहार में सूट बूट वाली सरकार नहीं बनेगी. बिहार में एक चुनाव सभा को संबोधित करते हुये राहुल गांधी ने कहा चुनाव में हार के डर से मोदी गुस्से में हैं. राहुल गांधी ने महंगाई पर तंज कसते हुये कहा यूपीए ने भोजन का अधिकार दिया और मोदी सरकार लोगों से दाल-रोटी छीन रही है. कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने गुरुवार को बिहार के मिथला क्षेत्र में चुनावी सभाओं को संबोधित करते हुए कहा कि भारतीय जनता पार्टी ‘फूट डालो और राज करो’ की नीति अपनाते हुए विभिन्न समुदायों के बीच सांप्रदायिक तनाव फैला रही है. उन्होंने कहा कि भाजपा के पास न विजन है, न मुद्दा है. राहुल मधुबनी जिले के बेनीपट्टी और किशनगंज में अलग-अलग चुनावी सभाओं को संबोधित करते हुए कहा, “चुनाव में हार को देख मोदी जी गुस्से में हैं. यही कारण है कि अब वह महागठबंधन को खुलेआम गाली देते हैं, कभी शैतान कहते हैं, कभी तांत्रिक कहते हैं तो कभी थ्री इडिएट्स कहते हैं. ऐसे शब्द प्रधानमंत्री पद को शोभा नहीं देता.”

उन्होंने कहा कि महागठबंधन बिहार के विकास के लिए काम करेगी. इसके पास स्पष्ट विजन है. बिहार के युवाओं को प्रशिक्षण कराया जाएगा. बेरोजगारों के बिहार में ही रोजगार दिया जाएगा.

राहुल ने कहा कि बिहार में सूट बूट वालों की सरकार नहीं बनेगी. यहां कांग्रेस, जदयू और राजद की सरकार बनेगी, जिससे बिहार में शांति कायम रहेगी. हमारी सरकार किसानों के खेतों में पानी पहुंचाएगी. यह सरकार किसानों, मजदूरों और गरीबों की सरकार होगी.

उन्होंने कहा, “हिन्दुस्तान को अब यह बात समझ आ गई है कि मोदी को वोट देकर गलती की थी. मोदी बातें तो बहुत करते हैं, लेकिन कुछ करते नहीं.”

मोदी की योजनाओं पर निशाना साधते हुए राहुल कहा, “मोदी ‘मेक इन इंडिया’ की बात करते हैं, ‘कनेक्ट इन इंडिया’ की बात करते हैं, लेकिन कुछ करते नहीं, करके दिखाते नहीं.”

राहुल ने महंगाई दूर करने के वादे पर सत्ता में मोदी सरकार को दाल की कीमतें बढ़ने पर घेरा. उन्होंने कहा कि संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन की सरकार ने जहां लोगों को सूचना का अधिकार और मनरेगा दिया, भोजन का अधिकार दिया, वहीं मोदी सरकार ने लोगों से दाल-रोटी भी छीन ली.

कांग्रेस उपाध्यक्ष ने कहा कि महाराष्ट्र में शिवसेना और भाजपा की मिलीजुली सरकार है, सत्तापक्ष के लोग बिहारियों को पीटते हैं, गरीबों से ऑटो चलाने का हक छीनते हैं, लेकिन प्रधानमंत्री ने अब तक इस मुद्दे पर कभी बात नहीं की है. मोदी को कभी किसी ने किसानों, मजदूरों और गरीबों से मिलते, बात करते नहीं देखा.

राहुल ने भाजपा पर एक-दूसरे से लड़वाने का आरोप लगाते हुए कहा, “जहां भी चुनाव होता है, वहां ये लोग एक हिन्दुस्तानी को दूसरे हिन्दुस्तानी से लड़वाते हैं. हिन्दू को मुसलमान से लड़ाते हैं. लोगों में फूट डालो और शासन करो, इनकी यही नीति है. बिहार में भी कोशिश की गई, मगर ये फेल हो गए. बिहार में सांप्रदायिक ताकतों की दाल न कभी गली है, न गलेगी.”

उन्होंने महागठबंधन के मुख्यमंत्री उम्मीदवार नीतीश कुमार की तारीफ करते हुए कहा कि नीतीश कुमार ने पिछले 10 वर्षो में जो विकास कार्यक्रम शुरू किए, उसके नतीजे दिख रहे हैं, विकास के अपने कार्यक्रम को वह आगे बढ़ाएंगे. लेकिन भाजपा के पास कोई मुख्यमंत्री पद का उम्मीदवार तक नहीं है.

Tags: , , , , ,