सोनी सोरी दिल्ली अपोलो शिफ्ट

Monday, February 22, 2016

A A

सोनी सोरी-आप

रायपुर | बीबीसी: आम आदमी पार्टी नेता और सामाजिक कार्यकर्ता सोनी सोरी को दंतेवाड़ा में हुए हमले के बाद इलाज़ के लिए दिल्ली के अपोलो अस्पताल में दाखिल कराया गया है.

सोनी सोरी ने शनिवार रात बीबीसी को बताया था कि उनके चेहरे पर कुछ अज्ञात लोगों ने ज्वलनशील पदार्थ मल दिया था. इसके बाद उन्होंने शिकायत की थी कि उन्हें कुछ नज़र नहीं आ रहा.

दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालिवाल ने उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया है. उनके मुताबिक़ सोनी सोरी का चेहरा जल गया है. उनकी आंखों की रोशनी के बारे में डॉक्टरों को चिंता है.

हालांकि मालिवाल के मुताबिक़ सोरी की जान ख़तरे से बाहर है. उनका आरोप है कि सोनी सोरी को पिछले दस दिनों से धमकियां मिल रही थीं और अब उनकी 15 साल की बेटी और साथियों को धमकियां दी जा रही हैं.

मालिवाल ने केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह से मांग की है कि सोनी सोरी के हमलावरों को गिरफ्तार कर सख़्त सज़ा दी जाए. उन्होंने सोनी सोरी के लिए पुलिस सुरक्षा की मांग भी की है.

सोनी सोरी ने रविवार को बीबीसी को बताया था, “शनिवार रात 10 बजे के आसपास जब मैं जगदलपुर से लगभग 65 किलोमीटर दूर अपने घर गीदम जा रही थी, उसी समय बास्तानार के पास मेरी गाड़ी को अज्ञात मोटरसाइकिल सवारों ने रोका. मुझे गाड़ी से उतारा और धमकी दी. इसके बाद मेरे चेहरे पर कोई ज्वलनशील पदार्थ मल दिया.”

वहीं दंतेवाड़ा के पुलिस अधीक्षक कमलोचन कश्यप का कहना है कि सोनी सोरी के चेहरे पर केवल कालिख मली गई है, एसिड नहीं.

छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा में हुए इस हमले के लिए सोनी सोरी ने पुलिस को ही ज़िम्मेदार ठहराया है. लेकिन पुलिस अधीक्षक कमलोचन कश्यप ने कहा है कि ये सभी आरोप निराधार हैं और वो इनका कड़े शब्दों में खंडन करते हैं.

घटना के बाद सोनी सोरी का गीदम के अस्पताल में प्राथमिक उपचार किया गया. गीदम अस्पताल में प्राथमिक उपचार के बाद रात में ही सोनी सोरी को बस्तर के मुख्यालय जगदलपुर के महारानी अस्पताल में भर्ती कराया गया.

जगदलपुर के महारानी अस्पताल में भर्ती सोनी सोरी का कहना था कि उनकी स्थिति ठीक नहीं है. उन्होंने रविवार की सुबह बीबीसी कहा था, ”डॉक्टरों के इलाज के बाद मुझे दर्द या जलन की शिकायत नहीं है. लेकिन चेहरे पर सूजन आ गई है और मुझे कुछ भी दिखाई नहीं दे रहा है.”

सोनी सोरी ने अपने सहयोगी का हवाला देते हुए कहा कि उन्हें पहले से ही आशंका थी कि उन पर इस तरह का हमला हो सकता है.

बीबीसी से बातचीत में पुलिस अधीक्षक कश्यप ने कहा था, ”जिस समय इस घटना की ख़बर मिली, पुलिस का अमला फ़ौरन सोनी सोरी तक पहुंचा और गीदम के अस्पताल में उनका प्राथमिक उपचार किया गया. हमारी डाक्टरों से भी बातचीत हुई, पूरी रिपोर्ट से साफ हुआ कि उनके चेहरे पर कालिख मली गई थी. घटना को अज्ञात लोगों ने अंजाम दिया है और मामले की जांच चल रही है.”

Tags: , , , ,