सिक्किम: रोमांच पसंद सैलानियों की नई सैरगाह

Sunday, February 2, 2014

A A

पैराग्लाइडिंग

गंगटोक | एजेंसी: हिमालय की तलहटी में बसा खूबसूरत पर्वतीय प्रदेश सिक्किम रोमांचक खेलों को पसंद करने वाले सैलानियों एवं खिलाड़ियों के पसंददीदा पर्यटक स्थल के रूप में तेजी से उभरा है. यहां पैराग्लाइडिंग के लिए आने वाले विदेशी सैलानियों एवं खिलाड़ियों की संख्या में लगातार वृद्धि दर्ज की जा रही है.

सिक्किम की अब तक मानव हस्तक्षेप से अछूती, विस्तृत एवं निर्जन पहाड़ियां धीरे-धीरे देश-विदेश के रोमांच पसंद सैलानियों एवं पवर्तारोहियों के लिए छुट्टियां बिताने का सबसे आकर्षक जगह बनता जा रहा है. पैराग्लाइडर्स के एक बड़े समूह के अनुसार, सिक्किम की पहाड़ियां और उनकी खड़ी ढलानें पैराग्लाइडिंग के लिए बहुत ही उपयुक्त हैं, और इसीलिए रोमांच पसंद पर्यटकों के बीच सिक्किम की लोकप्रियता काफी बढ़ गई है.

सिक्किम के मुख्यमंत्री पवन चामलिंग ने कहा, “राज्य में पैराग्लाइडिंग के पहले महोत्सव के आयोजन के बाद पैराग्लाइडर्स के बीच सिक्किम की लोकप्रियता में काफी इजाफा हुआ है. 2008 में ‘मुख्यमंत्री स्वरोजगार एवं कौशल निर्माण कार्यक्रम’ के तहत राज्य में रोमांचक खेलों को प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से राज्य के 30 युवकों को हिमाचल प्रदेश के मनाली में पैराग्लाइडिंग प्रशिक्षण के लिए राज्य सरकार द्वारा प्रायोजित करने के बाद सिक्किम रोमांचक खेलों के लिहाज से देश में तेजी से लोकप्रिय हुआ.”

भारतीय पैराग्लाइडिंग संघ (पीएआई) तथा सिक्किम पैराग्लाइडिंग एडवेंचर स्पोर्ट्स कोऑपरेटिव सोसायटी लिमिटेड के सहयोग से बुलबुले दारा में सिक्किम पर्यटन एवं नागरिक उड्डयन विभाग ने 2012 में राज्य के पहले पैराग्लाइडिंग महोत्सव का सफलतापूर्वक आयोजन किया. इस चार दिवसीय महोत्सव में विभिन्न रोमांचक खेलों में देश-विदेश के करीब 60 पैराग्लाइडर्स ने हिस्सा लिया.

राज्य के पर्यटन मंत्री एसएच भीम प्रसाद धुंगेल ने बताया, “मौजूदा समय में राज्य में 35 से भी अधिक पेशेवर पैराग्लाइडर्स हैं, जो सिक्किम की तीन पैराग्लाइडिंग स्थलों बुलबुले दारा, रांका और चाकुंग में पैराग्लाइडिंग प्रशिक्षण सत्रों का आयोजन करते हैं. राज्य के चार पैराग्लाइडर्स अंतर्राष्ट्रीय स्तर की प्रतियोगिताओं में हिस्सा ले चुके हैं, जिससे सिक्किम को अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर पैराग्लाइडिंग स्थल के रूप में पहचान मिली है. मौजूदा समय में पैराग्लाइडिंग कार्यक्रमों से राज्य के करीब 100 युवक जुड़े हुए हैं, तथा जिससे राज्य में प्रतिवर्ष लगभग एक करोड़ रुपये प्रति वर्ष के पैराग्लाइंडिग कार्यक्रमों का आयोजन होता है.”

पर्यटन मंत्री ने आगे बताया कि राज्य सरकार दो अतिरिक्त पैराग्लाइडिंग स्थलों का विकास कर करीब 500 युवकों को पैराग्लाइडिंग कार्यक्रमों से जोड़ने की योजना पर काम कर रही है. राज्य सरकार 12वीं पंचवर्षीय योजना के तहत युमथांग और सोरेन में 10 करोड़ रुपये की लागत से अत्याधुनिक सुविधाओं से युक्त पैराग्लाइडिग स्थलों का निर्माण करेगी. इसके अलावा राज्य सरकार अधिक से अधिक विदेशी पर्यटकों को आकर्षित करने के उद्देश्य से 2020 तक प्रत्येक जिले में कम से कम दो पैराग्लाइडिंग स्थल विकसित करने की योजना बना रही है.

Tags: ,