शिवराज की सीख, अहंकार से दूर रहें

Sunday, January 17, 2016

A A

शिवराज सिंह -मुख्यमंत्री

भोपाल | समाचार डेस्क: भारतीय जनता पार्टी की मध्यप्रदेश इकाई में बढ़ती गुटबाजी से मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान चिंतित हैं. उन्होंने रविवार को इस बात का जिक्र नवनिर्वाचित जिलाध्यक्षों और अन्य पदाधिकारियों की बैठक में की. उन्होंने कार्यकर्ताओं से नसीहत भरे अंदाज में कहा कि वे गुटबाजी और अहंकार से दूर रहकर पार्टी के लिए काम करें. भाजपा के कार्यालय में हुई बैठक में मुख्यमंत्री चौहान ने नवनिर्वाचित जिला अध्यक्षों से कहा कि वे गुटबाजी व अंहकार से दूर रहकर धैर्य, उत्साह, उमंग के साथ संगठन को एकजुट करनें में जुट जाएं.

मुख्यमंत्री चौहान ने आगे कहा, “हम पं. दीनदयाल उपाध्याय का 100वां और डॉ. भीमराव अंबेडकर का 125वां जन्मदिन मनाने जा रहे हैं, इस वर्ष को हम गरीब कल्याण वर्ष के रूप में मना रहे हैं. सबको साथ लेकर संगठन में समाहित करें और कमजोर वर्ग, गरीबों, मेहनतकश व जरूरतमंद लोगों की सेवा में तत्पर रहें.”

भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष नंदकुमार सिंह चौहान ने नए पदाधिकारियों का स्वागत करते हुए कहा कि राजनीतिक चुनौतियों के लिए एकजुट होकर जुटना है और समयदान करके पार्टी द्वारा बताए गए लक्ष्यों को पूरा करना है.

उन्होंने पार्टी की आजीवन सहयोग निधि के संग्रह का जिक्र करते हुए नवनिर्वाचित जिला अध्यक्षों और निवर्तमान अध्यक्षों से आग्रह किया कि वे पं. दीनदयाल उपाध्याय की पुण्यतिथि 11 फरवरी ‘समर्पण दिवस’ के अवसर पर अपने-अपने जिले से आजीवन सहयोग निधि के संग्रह का कार्य पूरा कर एक नई मिसाल कायम करें.

उन्होंने बताया कि पिछले वर्ष आजीवन सहयोग निधि में पांच करोड़ 20 लाख रुपये जुटाए गए थे और इस वर्ष आठ करोड़ रुपये जुटाने का लक्ष्य रखा गया है.

Tags: , , , , ,