बजट के दिन शेयर बाजार

Sunday, February 22, 2015

A A

शेयर बाजार

मुंबई | समाचार डेस्क: अस्थिरता तथा उतार-चढ़ाव की संभावना होते हुए भी देश के शेयर बाजार 28 फरवरी को खुले रहेंगे. ऐसा शेयर बाजार का काम करने वाले दलालों तथा संगठनों के अनुरोध के बाद किया जा रहा है. जाहिर है कि शेयर बाजार को उम्मीद है कि बजट निवेश को आकर्षित करने वाला होगा जिससे विदेशी निवेशक भारतीय सेयरों की खरीददारी करेंगे. साफ है कि शेयर बाजार को इसके लिये एक दिन का एक दिन का इंतजार करना रास नहीं आ रहा था. उल्लेखनीय है कि बजट 27 फऱवरी को संसद में पेश होगा तथा उस दिन शनिवार होने के कारण शेयर बाजार बंद रहते हैं. केंद्र सरकार इसी दिन संसद में आम बजट पेश करेगी. विदेशी और घरेलू निवेशकों को बजट में सरकार से अधिक सुधारों की आस होगी. बंबई स्टॉक एक्सचेंज में कारोबार संचालन के महाप्रबंधक, केतन जंत्रे ने शुक्रवार देर रात जारी एक नोटिस में कहा, “कारोबारी सदस्यों को सूचित किया जाता है कि बाजार 28 फरवरी, 2015 को नियमित कारोबार के लिए खुले रहेंगे, जिस दिन वर्ष 2015-16 के लिए केंद्रीय बजट पेश किया जाएगा.”

बीएसई ने यह घोषणा तब की है, जब बाजार नियामक, भारतीय प्रतिभूति एवं विनियामक बोर्ड ने शेयर बाजारों को बजट के दिन खुले रहने के निर्देश जारी किए हैं.

इसके पहले शेयर दलालों के संगठन, एसोसिएशन ऑफ नेशनल एक्सचेंजेज मेंबर्स ऑफ इंडिया ने सेबी से अनुरोध किया था कि बजट के दिन बाजारों को खुला रखा जाए.

संगठन ने चार फरवरी को सेबी को लिखे पत्र में अनुरोध किया था कि निवेशकों के हित में बाजार खुले रखे जाएं.

संगठन ने कहा है कि इससे निवेशक बजट नीति पर आधारित अपने निवेश पर बुद्धिमानी भरा निर्णय ले पाएंगे.

रेल बजट और आम बजट बाजार की मजबूती के लिए मुख्य उत्प्रेरक हैं. आगामी सुधारों और निवेश बढ़ाने के लिए व्यापक नीति पहल के लिए इस बजट से काफी उम्मीदें बंधी हैं.

हेम सिक्युरिटीज के इक्वि टी रिसर्च प्रमुख, विनीता मनहोट के मुताबिक, “फरवरी वायदा सीरीज के निपटान के साथ ही रेल और आम बजट 2015-2016 जैसे मुख्य आयोजनों की वजह से बाजार में अस्थिरता रहने की संभावना है.”

23 फरवरी से संसद का बजट सत्र शुरू होगा. 26 फरवरी को रेल बजट पेश किया जाएगा, जिसके बाद 27 फरवरी को आर्थिक सर्वेक्षण पेश होगा और 28 फरवरी को आम बजट पेश होगा.

अन्य विश्लेषकों ने संभावना जताई है कि बजट से पूर्व उम्मीदें बढ़नी शुरू हो गई हैं और संबंधित क्षेत्रों में बढ़ी हुई उत्सुकता देखी जा सकती है.

वित्तीय सेवा संस्था जियोजित बीएनपी पारिबास के फंडामेंटल रिसर्च प्रमुख विनोद नायर ने कहा, “फरवरी के पहले सप्ताह में बाजार में तेज गिरावट के बाद हम तेजी से बजट पूर्व की तेजी की ओर बढ़ गए हैं. बाजार की इस तेजी का मुख्य कारक भारी उम्मीदें हैं.”

आगामी बजट में सुधार की मजबूत उम्मीदों की वजह से 20 फरवरी को समाप्त हुए सप्ताह के दौरान शेयर बाजार के प्रमुख सूचकांक सेंसेक्स में 136.48 अंकों यानी 0.46 प्रतिशत की मजबूती रही.

20 फरवरी को समाप्त सप्ताह में सुधारवादी और निवेश बजट की उम्मीदों से भी शेयर बाजार में विदेशी पोर्टफोलियो निवेशक शुद्ध खरीदार बने.

नेशनल सिक्युरिटीज डिपॉजिटरी के मुताबिक, 20 फरवरी को समाप्त सप्ताह में एफपीआई ने 4,334.55 करोड़ रुपये यानी 69.76 करोड़ डॉलर के शेयर खरीदे.

Tags: ,