7 जवान माओवादियों के कब्जे में

Tuesday, July 14, 2015

A A

छत्तीसगढ़ नक्सली

जगदलपुर | संवाददाता: छत्तीसगढ़ में माओवादियों द्वारा अपह्रत 4 पुलिस जवानों का पता नहीं चल पाया है. इस बीच पुलिस ने दो और जवानों के लापता होने की बात कही है. आशंका है कि इन जवानों का भी अपहरण हुआ है. इस तरह अपह्रत जवानों की संख्या 7 हो गई है.

दूसरी ओर पुलिस का कहना है कि जवानों को छुड़ाने के लिये मध्यस्थों से बातचीत जारी है. शुक्रवार को दोरनापाल से अपह्रत जवान का भी अब तक पता नहीं चल पाया है.

गौरतलब है कि सोमवार की शाम माओवादियों ने चार जवानों का अपहरण कर लिया था. पुलिस सूत्रों के अनुसार बीजापुर जिले के बेदरे थाना में तैनात चार आरक्षक सोमवार दोपहर कुटरू से बेदरे के लिए रवाना हुए थे. दो जवान बस में सवार हुए थे जबकि दो जवान अपनी मोटरसाइकिल से बेदरे जा रहे थे. पुलिस आरक्षकों के आने की भनक माओवादियों को लग गई और उन्होंने जंगल में बस को रोककर उसमें सवार दोनों आरक्षकों को नीचे उतार लिया.

इसी बीच मोटरसाइकिल से सवार आरक्षक भी वहां से गुजर रहे थे जिन्हें माओवादियों ने रोका और बंदूक की नोक पर चारों को अगवा कर जंगल की ओर ले गए. जिन जवानों का अपहरण हुआ है, उनमें सहायक आरक्षक जयदेव यादव, सहायक आरक्षक राजू तेला, सहायक आरक्षक मंगल सोड़ी
और सहायक आरक्षक रामा मज्जी शामिल हैं.

इससे पहले शुक्रवार को भी माओवादियों ने दोरनापाल इलाके से एक सहायक आरक्षक का अपहरण किया था. जवान के साथ माओवादियों ने एक ग्रामीण का भी अपहरण किया था लेकिन बाद में माओवादियों ने ग्रामीण को रिहा कर दिया था.

अब पुलिस का कहना है कि वह मध्यस्थों के जरिये अपह्रत जवानों की रिहाई की कोशिश कर रही है. दोरनापाल से अपह्रत जवान के कुछ परिजन भी माओवादियों से संपर्क कर उनकी रिहाई की कोशिश में जुटे हुये है.

Tags: , , , , , , , , ,