मस्तिष्क एवं गले के कैंसर के 7 जीन खोजे गए

Wednesday, February 19, 2014

A A

कैंसर

न्यूयॉर्क | एजेंसी: चिकित्सा के क्षेत्र में एक नई तकनीक के माध्यम से सात नए ट्यूमन सप्रेसर जीन की खोज की गई है, जिनका संबंध मस्तिष्क और गले के कैंसर से है और जिसके बारे में अभी तक जानकारी नहीं थी. यह नई तकनीक परंपरागत विधि की तुलना में बहुत ही कम संसाधन और समय में जीन की कार्यप्रणाली का निर्धारण कर लेती है.

रॉकीफेलर यूनिवर्सिटी के चिकित्सक डेनियल श्रेमक ने दावा किया, “पहले से विद्यमान पद्धतियों में चूहे के हर एक जीन का निर्धारण करने में दो साल तक का समय लग जाता था. लेकिन हमारी नई तकनीक से लगभग 300 जीन का निर्धारण मात्र पांच सप्ताह में किया जा सकता है.”

शोधकर्ताओं के मुताबिक मस्तिष्क और गले के कैंसर को विश्व भर में छठा सबसे खतरनाक कैंसर बताया गया है.

शोधकर्ताओं ने कहा, “हमने पाया कि आरएनए हस्तक्षेप पद्धति जीन के निर्धारण में बेहद उपयोगी है. ट्यूमर सप्रेसर जीन की मान्यता और लक्षण के निर्धारण में इस तकनीक के बिना कोई न कोई कमी बाकी रहने की आशंका है.”

शोधकर्ताओं ने कहा कि यह तकनीक मस्तिष्क और गले के कैंसर के अलावा स्तन और फेफड़े के कैंसर के जीन निर्धारण में भी उपयोगी है.

Tags: , , ,